रोहिंग्या संकट पर अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने बड़ा बयान सामने आया है. मामले पर उन्होंने कहा कि रोहिंग्या शरणार्थी संकट को लेकर वह अब भी म्यांमार पर प्रतिबंध लगाए जाने पर जोर नहीं देंगे. हालांकि उन्होंने अल्पसंख्यक रोहिंग्या मुस्लिमों के खिलाफ सेना के अत्याचार को लेकर एक स्वतंत्र जांच कराने की अपील की. वहीं, रोहिंग्या शरणार्थी संकट पर खुद के चुप रहने को लेकर दुनिया भर में हो रही आलोचना पर म्यांमार की नेता आंग सान सू की ने कहा कि उन्होंने इस तरह से अपनी बात रखी है, जिससे सांप्रदायिक तनाव नहीं भड़केगा. इसके साथ ही उन्होंने रोहिंग्या संकट

म्यांमार की एक ब्यूटी क्वीन का कहना है कि रोहिंग्या मुस्लिम चरमपंथियों पर एक ग्राफिक वीडियो पोस्ट करने पर उनसे सौंदर्य स्पर्धा में मिला उनका ताज छीन लिया गया है. वीडियो में रखाइन राज्य में हुई साम्प्रदायिक हिंसा के लिए मुस्लिम रोहिंग्या चरमपंथियों को जिम्मेदार ठहराया गया है. म्यांमार की सेना पर रखाइन में रोहिंग्याओं के खिलाफ ‘जातीय सफाया’ अभियान चलाने के आरोप लगे हैं. 25 अगस्त के बाद से इस राज्य से मुस्लिम समुदाय के पांच लाख से ज्यादा लोग सीमा पार कर बांग्लादेश चले गए. इस हिंसा पर हो रही वैश्विक निंदा को देखते हुए म्यांमार अधिकारियों ने इस

नाय पी ताउ म्यांमार से रोहिंग्या मुस्लिमों को खदेड़ा जा रहा है और इसके बाद पूरी दुनिया की नजर इन पर है। खबरों के अनुसार म्यांमार से लगभग सारे रोहिंग्या मुस्लमों को खदेड़ा जा चुका है। इसे लेकर देश की स्टेट काउंसलर आंग सान सू की ने मंगलवार को देश के नाम संबोधन दिया जिसमें उन्होंने कहा कि हम शांति के लिए प्रतिबद्ध हैं। सू की ने कहा कि रोहिंग्या आतंकी हमलों में शामिल हैं। रोहिंग्या समुदाय को म्यांमार में संरक्षण मिला लेकिन इन्‍होंने म्‍यांमार में ही आतंकी हमले करवा दिए। उन्‍होंने आगे कहा, हम आलोचनाओं से डरने वाले नहीं हैं। जो

पीएम नरेंद्र मोदी अपने दो दिवसीय म्यांमार यात्रा पूरी कर दिल्ली लौट अाए। नरेंद्र मोदी ने आज यंगून स्थित प्रतिष्ठित श्वेदागोन पगोड़ा परिसर का दौरा किया। इस दौरान पीएम ने एक बोधि वृक्ष का पौधारोपण भी किया। यांगून का पगोडा टावर बौद्ध धर्म का आध्यात्मिक केंद्र है। इसके बाद पीएम मोदी कालीबाड़ी मंदिर पहुंचे। Prime Minister Narendra Modi offers prayers at Kali Bari Temple in Yangon #Myanmar pic.twitter.com/VunI8evloU — ANI (@ANI) September 7, 2017 इससे पहले बुधवार को यहां पर भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि चाहे सर्जिकल स्ट्राइक हो या जीएसटी या नोटबंदी, हमने हर फैसला बिना डर और

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय दौरे पर म्यांमार पहुंच गए हैं। भारत-चीन द्विपक्षीय वार्ता के तुरंत बाद मोदी म्‍यांमार के लिए रवाना हुए थे। इस दौरान उनका ध्‍यान म्‍यांमार से मजबूत भावनात्मक संबंध बनाने पर केंद्रित रहेगा। पीएम मोदी ने म्यांमार को 'भारत का करीबी दोस्त' भी कहा है। बताया जा रहा है कि पीएम मोदी म्यांमार दौरे के दौरान तीन जगहों पर जाएंगे। इस देश में रहने वाले भारतीय समुदाय के लोगों के बीच मोदी का एक कार्यक्रम भी होना है। यह कार्यक्रम यांगून के थुवाना स्टेडियम में होगा। पीएम श्वेदगॉन पगोड़ा, ऑन्ग सैंग म्यूजियम और यांगून स्थित शहीदों की

कॉक्स बाजार (बांग्लादेश), म्यांमार के उत्तर-पश्चिमी इलाके में बीते सप्ताह रोहिंग्या मुसलमानों के 2,600 घर जला दिये गए। इसके चलते करीब 58,600 मुस्लिम जान बचाने के लिए पड़ोसी देश बांग्लादेश पहुंचे हैं। बांग्लादेश सरकार ने यह जानकारी दी है। संयुक्त राष्ट्र के अंतर्गत कार्य करने वाली शरणार्थी संस्था ने इसकी पुष्टि की है। म्यांमार के अधिकारियों ने राखिन प्रांत में घर जलाने की घटनाओं के लिए अराकान रोहिंग्या मुक्ति सेना (एआरएसए) को जिम्मेदार ठहराया है। कहा है कि इसी अतिवादी संगठन ने सेना की चौकियों पर हमला किया जिसके कारण सैनिकों को आत्मरक्षा में कार्रवाई करनी पड़ी। इसी जवाबी कार्रवाई से

म्यांमार के सौ से ज्यादा सैनिकों और उनके परिवार के सदस्यों को ले जा रहे लापता सैन्य विमान का मलबा गुरुवार को अंडमान सागर में मिला है. एक स्थानीय अधिकारी और वायु सेना के सूत्र ने यह बताया है. विमान का वायु यातायात नियंत्रकों से संपर्क टूटने के बाद अपराह्न से उसे नौसेना के जहाज और विमान खोज रहे थे विमान दक्षिणी शहर मीईक से यांगून की उड़ान पर था. म्यांमार के दक्षिणी समुद्र तट के करीब दोपहर 1.35 बजे उससे संपर्क खत्म हो गया था. सेना ने फेसबुक पर जारी किए गए बयान में कहा कि विमान पर सवार सैनिकों के