प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में बड़ी जीत हासिल की है। सुरक्षा और आतंकवाद को लेकर भारत का कूटनीतिक दबाव रंग लाया है। ब्रिक्स के जारी घोषणा पत्र में कहा गया है कि कहीं भी और किसी भी तरह का आतंकवाद मंजूर नहीं है। सम्मेलन में हर तरह के आतंकवाद की निंदा हुई है और ब्रिक्स के शिखर नेताओं ने साफ कहा है कि उन्हें कोई भी आतंकी हमला मंजूर नहीं है। घोषणा पत्र में हालांकि पाकिस्तान का नाम नहीं लिया गया है, लेकिन उसकी जमीन से संचालित होने वाले आतंकी संगठनों का इसमें जिक्र किया गया है। घोषणा पत्र

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने जम्‍मू कश्‍मीर में विनाशकारी गतिविधियों के लिए लश्‍कर ए तैयबा से धन लेने के आरोप में NIA ने अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी और अन्‍य हुर्रियत नेताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया है. नेशनल इंवेस्‍टिगेशन एजेंसी ने शुक्रवार को बताया की आतंक रोधी जांच एजेंसी की टीम श्रीनगर पहुंच गयी है और गिलानी, हुर्रियत के गिलानी धड़े के प्रांतीय अध्‍यक्ष नईम खान, JKLF नेता फारुक अहमद डार और तहरीक ए हुर्रियत नेता गाजी जावेद बाबा से पूछताछ करेगी.