नई दिल्ली हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित नहीं किये जाने को लेकर कांग्रेस की आलोचना को सिरे से खारिज करते हुए भाजपा ने कहा है कि राजनीति में लड़ाई मुद्दों के आधार पर लड़ी जाती है और इस बारे में कांग्रेस का आरोप अपनी नाकामी और भ्रष्टाचार छिपाने का प्रयास है. भाजपा भ्रष्टाचार मुक्त एवं सुशासन युक्त सरकार देने को कृतसंकल्प है. भाजपा ने कहा कि जनता के मूड से लगता है कि हिमाचल प्रदेश में उसे 50 से अधिक सीटें प्राप्त होगी. हिमाचल प्रदेश मामलों के पार्टी प्रभारी एवं बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने कहा,

तमाम विवादों और किंतु-परंतु के बावजूद कांग्रेस नेतृत्व ने मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के नेतृत्व में ही चुनाव मैदान में उतरने का फैसला किया है। रिकॉर्ड छह बार मुख्यमंत्री रह चुके वीरभद्र के लिए जहां एक ओर सत्ता बचाए रखने की चुनौती है तो दूसरी ओर 7वीं बार मुख्यमंत्री बनने का अवसर भी। राज्य में पिछले कुछ दशकों से हर बार सत्ता विरोधी लहर के कारण सत्ता में परिवर्तन का ट्रेंड रहा है। ऐसे में सत्ता बचाने के लिए वीरभद्र को सत्ता विरोधी रुझान से पार पाना होगा। वह भी तब जब वह खुद और उनके परिवार के सदस्य भ्रष्टाचार के आरोपों से

विधानसभा चुनावों में पीएम मोदी और सीएम वीरभद्र  सिंह के नाम पर सीधी जंग होगी। दोनों राजनीतिक दलों की रैलियों में बने चुनावी समीकरणों ने इस पर मुहर लगा दी है। बिलासपुर में भाजपा की आभार रैली में जहां मुख्यमंत्री वीरभद्र के नाम को भ्रष्टाचार के बहाने उछालकर पीएम मोदी ने प्रदेश में कांग्रेस को जमानत पर करार दिया वहीं, कांग्रेस रैली में राहुल गांधी ने विस चुनाव वीरभद्र के नाम पर लड़ने का संकेत दिया। राहुल गांधी ने सीएम वीरभद्र सिंह के सातवीं बार सीएम बनने का एलान कर दोनों दिग्गजों के नाम पर होने वाली इस जंग को और रोचक

हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनावों का चुनावी बिगुल बजने वाला है. जिसके चलते कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी का हिमाचल दौरा पर आ सकते हैं. कांग्रेस उपाध्यक्ष हिमाचल में पार्टी के मिशन रिपीट में प्राण फूंकने के लिए दौरे पर आ रहे हैं।बताया जाता है कि राहुल गांधी 21 सितंबर को विदेश दौरे से लौटेंगे. पार्टी चाहती है कि आचार संहिता से पहले ही राहुल का हिमाचल एक दौरा हो. प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने उनके दौरे का समय निर्धारित करने के लिए आलाकमान को प्रस्ताव भेजा है. पार्टी हिमाचल के चारों संसदीय क्षेत्रों में उनकी रैलियां करवाएगी। इसके बाद

हिमाचल प्रदेश में प्रस्तावित विधानसभा चुनाव की तैयारियां शुरू हो गई हैं। भारत निर्वाचन आयोग के वरिष्ठ अधिकारियों की एक टीम ने वीरवार को प्रदेश के सभी डीसी व एसपी के साथ बैठक की। लोगों को ज्यादा से ज्यादा संख्या में चुनाव में भागीदारी करने के लिए विशेष अभियान चलाने को कहा गया। बूथ स्तर की समस्याओं पर भी चर्चा की गई। बैठक से निकले बिंदुओं पर आयोग की टीम अब प्रदेश सरकार से बात करेगी ताकि चुनाव से पहले हर पोलिंग स्टेशन तक मूलभूत सुविधाएं पहुंच सकें। वीरवार को भारत निर्वाचन आयोग से डिप्टी चुनाव आयुक्त उमेश सिन्हा और संदीप सक्सेना

संसद की स्थाई समिति की बैठक अध्यक्ष व राज्यसभा सदस्य आनंद शर्मा की अध्यक्षता में रविवार को शिमला में हुई. इसमें प्रदेश के राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया व लोकसभा, विधानसभा, पंचायती राज संस्थाओं व नगर निगम चुनाव चुनाव एक साथ करवाने पर सहमति जताई.बैठक में चुनाव आयोग को दोहरे खर्च से बचाने के लिए एक साथ चुनाव करवाने पर राय मांगी गई थी। संसद की 40 सदस्यीय समिति सभी राज्यों का दौरा कर चुनाव खर्च कम करने के लिए लोकसभा व विधानसभा चुनाव एक साथ करवाने पर राय ले रही है।. सभी राज्यों से एकत्रित राय की रिपोर्ट

आज से शिमला में दो दिवसीय बीजेपी युवा मोर्चा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक होने जा रही है। बैठक की शुरुआत पूर्व सीएम और बीजेपी नेता प्रेम कुमार धूमल करेंगे। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सतपाल सत्ती भी बैठक में मौजूद रहेंगे। बैठक में दो हजार सत्रह विधानसभा चुनाव को लेकर रणनीति पर विचार किया जाएगा, साथ ही पिछले तीन महीनों के दौरान किए युवा मोर्चा के कार्यों की भी समीक्षा की जाएगी।

चुनाव आयोग ने ईवीएम हैकिंग के आरोपों को सही साबित करने के लिए राजनीतिक दलों को खुली चुनौती देने की तैयारी कर ली है. आयोग इसकी तारीख, स्थान और रूपरेखाओं की घोषणा आज (शनिवार) दोपहर में करेगा. चुनौती के दौरान, राजनीतिक दलों और तकनीकी विशेषज्ञों को यह साबित करने का एक अवसर मिलेगा कि ईवीएम से छेड़छाड़ किया जा सकता है. आयोग के प्रवक्ता ने शुक्रवार को बताया कि मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम ज़ैदी के संवाददाता सम्मेलन से पहले आयोग वीवीपीएटी युक्त ईवीएम की कार्यप्रणाली का मीडिया के समक्ष सजीव प्रदर्शन करेगा. निर्वाचन आयोग की घोषणा के मुताबिक, ईवीएम वीवीपैट की कार्यप्रणाली प्रदर्शित