सिंगापुर पार्लियामेंट की पूर्व स्पीकर हलीमा याकूब को सिंगापुर की पहली महिला राष्ट्रपति चुना गया है। चुनाव में वो इकलौती योग्य उम्मीदवार थीं। नतीजा घोषित होने के बाद हलीमा ने चुनाव विभाग के कार्यालय में कहा, 'हालांकि यह एक आरक्षित चुनाव है, लेकिन मैं एक आरक्षित राष्‍ट्रपति नहीं हूं। मैं देश के सभी नागरिकों की राष्ट्रपति हूं।' बहुसांस्कृतिक देश में विशिष्टता को मजबूत करने के लिए सिंगापुर की संवैधानिक व्यवस्था के अनुसार इस बार राष्ट्रपति मलय मूल के समुदाय से चुना जाना था। इस बार अल्पसंख्यक मलय समुदाय के उम्मीदवारों के लिए राष्‍ट्रपति पद आरक्षित था। हलीमा पार्लियमेंट की पूर्व स्‍पीकर हैं, इसलिए

भारतवंशी जेवाई पिल्लई को सिंगापुर का कार्यवाहक राष्ट्रपति नियुक्त किया गया हैं. महीने के अंत में नए राष्ट्राध्यक्ष के शपथ ग्रहण करने तक वह देश के कार्यवाहक राष्ट्रपति बने रहेंगे. पिल्लई (83) ने टोनी टान केंग याम की जगह पर यह पद ग्रहण किया हैं. टोनी टान केंग याम ने गुरुवार को अपना 6 साल का कार्यकाल पूरा कर चुके हैं. काउंसिल ऑफ प्रेसिडेंशियल एडवाइजर्स सीपीए के अध्यक्ष पिल्लै ने 13 सितंबर को होने वाले नामांकन में किसी के निर्विरोध चयन होने की स्थिति तक और 23 सितंबर को मतदान तक बतौर राष्ट्रपति कार्य करेंगे. स्थानीय मीडिया ने कहा है कि

हरियाणा में निवेश को बढ़ावा देने के मकसद से मुख्यमंत्री मनोहर लाल आज से सिंगापुर और हांगकांग के पांच दिवसीय दौरे पर रहेंगे. मुख्यमंत्री वहां निवेशकों को हरियाणा में निवेश करने के लिए आमंत्रित और प्रोत्साहित करेंगे. सीएम मनोहर लाल ने बताया कि प्रदेश में अधिक विदेशी निवेश आने से सिर्फ हरियाणा ही नहीं बल्कि देश का भी भला होग, साथ ही युवाओं को रोजगार मिलेगा. विदेश रवाना होने से पहले अपने विदेश दौरे की जानकारी देते हुए सीएम मनोहर लाल ने बताया कि इज ऑफ डूइंग बिजनेस में हरियाणा की रैंकिंग पंद्रह से बढ़कर छह हो गई है. उन्होंने बताया कि