दिल्ली मेट्रो ने अपनी आय बढ़ाने के मकसद से किराया बढ़ाया था, लेकिन इसका उलटा ही असर पड़ा है. अक्तूबर में दिल्ली मेट्रो के किराये में बढ़ोतरी के बाद हर रोज मेट्रो से यात्रा करने वाले यात्रियों की संख्या में तीन लाख से ज्यादा की कमी आ गई. आरटीआई के एक सवाल के जवाब में यह पता चला है. अक्तूबर में किराया बढ़ाए जाने के बाद यात्रियों की संख्या रोजना औसतन 24.2 लाख रह गई, जबकि सितंबर में औसतन 27.4 लाख लोगों ने प्रतिदिन मेट्रो में सफर किया. इस तरह यात्रियों की संख्या में करीब 11 प्रतिशत की कमी आई