दुबई में काम करने वाले 70 भारतीय युवकों को वहां पर हड़ताल करनी इस कदर मंहगी पड़ी कि उनको दुबई से भारत का रास्ता दिखा दिया गया। दुबई से डिपोर्ट किए युवा वापिस भारत लौट आए हैं। भारत लौटे लोगों में बठिंडा जिले के गांव खोखर के युवक हरप्रीत सिंह ने बताया कि उनको वहां पर कम वेतन दिया जा रहा था। हालांकि उनके साथ बात ज्यादा वेतन देने की हुई थी। इसलिए कुछ साथियों की ओर से दुबई में हड़ताल कर दी गई। इस पर कंपनी की शिकायत पर वहां की सरकार ने उनके दुबई में रहने के लिए दी