आरुषि-हेमराज मर्डर केस में आरोपों से बरी होने के बाद राजेश और नूपुर तलवार डासना जेल से रिहा हो गए हैं। तलवार दंपती नंवबर 2003 से गाजियाबाद की डासना जेल में बंद थे। करीब चार साल जेल में रहने के बाद राजेश और नूपुर तलवार जेल से रिहा हुए हैं। इससे पहले हाई कोर्ट के आदेश की कॉपी पहुंचने के बाद सीबीआइ कोर्ट और डासना जेल में रिहाई की प्रक्रिया शुरू हो गई थी। तलवार दंपती का मेडिकल टेस्ट भी पूरा किया गया। चार लोगों ने बॉन्ड भरा है। गुरुवार को इलाहाबाद हाई कोर्ट ने इस केस में दोनों को बड़ी राहत

नोएडा के बहुचर्चित आरुषि-हेमराज हत्याकांड में इलाहाबाद हाई कोर्ट 12 अक्टूबर को फैसला सुनाते हुए तलवार दंपति को बरी कर दिया है। निचली अदालत से मिली सजा रद्द की गई है। न्यायमूर्ति बीके नारायण और न्यायमूर्ति अरविंद कुमार मिश्र की खंडपीठ दोपहर दो बजे के बाद इस केस में फैसला सुनाया है। इस मामले में आरोपी दंपती डा. राजेश तलवार और नुपुर तलवार ने सीबीआइ कोर्ट गाजियाबाद की ओर से आजीवन कारावास की सजा के खिलाफ इलाहाबाद हाई कोर्ट में अपील दाखिल की थी। दोनों पक्षों की लंबी बहस के बाद कोर्ट ने फैसला सुरक्षित कर लिया था। अब गुरुवार को