फ्रिज, एसी और वॉशिंग मशीन अगले महीने 3-5 प्रतिशत तक महंगे हो सकते हैं। हाई इनपुट कॉस्ट के चलते वाइट गुड्स कंपनियों पर दबाव बना है। कन्ज्यूमर्स पर प्राइस हाइक का असर दिसंबर से ज्यादा दिखेगा क्योंकि रिटेलर्स के पास फिलहाल दिवाली में बिना बिका सामान पड़ा है। इंडस्ट्री के तीन सीनियर एग्जिक्युटिव्स ने कहा कि ऊंचे रेट पर फ्रेश स्टॉक खरीदने से पहले कंपनियां पुराना स्टॉक क्लीयर करेंगी। इस साल जनवरी में इंडस्ट्री की तरफ से प्राइस हाइक होने के बाद से वाइट गुड्स कंपनियों की इनपुट कॉस्ट में लगभग 30 से 50 प्रतिशत तक उछाल आ चुकी है। स्टील