दिल्ली में प्रदूषण और स्मॉग के चलते ट्रकों की एंट्री के अलावा निर्माण कार्यों पर लगा प्रतिबंध हटा लिया गया है.  खबरों के अनुसार पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण प्रधिकरण ने गुरुवार को निर्देश जारी करते हुए ट्रकों के प्रवेश पर लगे प्रतिबंध के अलावा राजधानी में होने वाले निर्माण कार्यों और पार्किंग पर लगाए जा रहे चार गुना शुल्क को भी वापिस ले लिया है. बता दें कि प्रदूषण के चलते दिल्ली में 9 नवंबर की रात से ही ट्रकों की एंट्री बंद कर दी गई थी. यह प्रतिबंध दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल द्वारा ली गई उस बैठक में लगाया गया

बढ़ते प्रदूषण पर पंजाब सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एक बार फिर केंद्र सरकार से सहयोग की अपील की. कैप्टन अमरिंदर सिंह के मुताबिक ये मामला पूरी तरह से केन्द्र सरकार के अधिकार क्षेत्र में आता है, और इस समस्या का समाधान केंद्र सरकार ही निकाल सकती है.  कैप्टन अमरिंदर सिंह ने दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल के मुलाकात कर मसला हल करने के सुझाव को रद्द कर दिया था. अमरिंदर सिंह के मुताबिक दोनों राज्यों के बीच होने वाली बैठकों से प्रदूषण की समस्या का हल नही हो सकता. पंजाब सीएम ने केजरीवाल को मामले में राजनीति नहीं करने की

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंद्र सिंह ने पराली के धुएं पर बातचीत के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के न्यौते को फिर ठुकरा दिया है. अमरिंदर सिंह ने साफ तौर पर कहा कि ऐसी किसी बैठक का कोई मतलब नहीं है और वह दिल्ली के सीएम से नहीं मिलेंगे. दरअसल केजरीवाल ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को ट्वीट कर कहा था कि वो बुधवार को हरियाणा सीएम मनोहर लाल के साथ चर्चा के लिए चंडीगढ़ आ रहे हैं, बेहतर होता कि कैप्टन अमरिंदर सिंह भी बातचीत में शामिल हो जाते. केजरीवाल ने चंडीगढ़ में होने वाली बैठक में शामिल होने के

दिवाली के बाद प्रदूषण और पिछले एक सप्ताह से स्मॉग के चलते भीषण जहरीली हवा में जी रहे दिल्ली-एनसीआर के लोगों को जल्द ही इससे राहत मिलने वाली है। अगले 24 घंटे में बारिश से स्मॉग खत्म हो जाएगा और हवा में प्रदूषण का स्तर भी घटेगा। बताया जा रहा है कि पिछले 1 हफ्ते से कोहरे और कुहासे से परेशान रहे दिल्ली वालों के लिए यह वेस्टर्न डिस्टरबेंस साफ हवा की सौगात लेकर आ रहा है। इसकी वजह से दिल्ली-एनसीआर में हवाएं शुरू हो चुकी हैं। इसका नजारा मंगलवार सुबह देखने को भी मिला। जानकारी आ रही है कि अगले

दिल्ली NCR ने बढ़ते प्रदूषण का संकट अभी तक बरकरार है और यह जहरीली हवा बिना समाधान निकले अब दूसरे हफ्ते में प्रवेश कर गई है. पंजाब, हरियाणा में पराली जलाने का क्रम अभी भी जारी है, पराली जलाने के कारण दिल्ली की हवा में प्रदूषण की मात्रा में बढ़ोतरी दर्ज हुई है. आपको बता दें कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सीएम अरविंद केजरीवाल को चिट्ठी लिखकर पराली जलाने के मुद्दे पर राजनीति करने के आरोप लगाये थे. जबकि पिछले दिनों केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पंजाब और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों से मिलने के लिए बैठक आयोजित करने की बात

दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार के साथ दिल्ली, यूपी, पंजाब और हरियाणा सरकार को नोटिस जारी किया है। शीर्ष कोर्ट ने पराली जलाने और सड़कों की धूल से होने वाले प्रदूषण पर अंकुश के निर्देश देने के लिए इन सभी सरकारों से मांगा जवाब मांगा है। चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए़ एम़ खानलिवकर और न्यायमूर्ति डी़ वाई़ चन्द्रचूड़ की पीठ ने वकील आऱ के़ कपूर की ओर से दी गई अर्जी को स्वीकार करते हुए यह फैसला किया। कपूर ने अपने आवेदन में कहा है कि सड़कों पर उड़ रही धूल, दिल्ली के पड़ोसी

दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण के स्तर को देखते हुए दिल्ली में भारी वाहनों की एंट्री बैन कर दी गई है, जिसे देखते हुए गुरुग्राम ट्रैफिक पुलिस ने भी कमर कस ली है और शहर में भारी वाहनों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है। गुरुग्राम ट्रैफिक पुलिस के आला अधिकारियों की मानें तो उन्होंने जिले के साथ लगते रेवाड़ी, झज्जर और नूंह जिले के ट्रैफिक अधिकारियों को भी इस बारे में सूचित कर दिया है। उन्होंने उनसे कहा है कि, वो भारी वाहनों को अपनी सीमाओं में ही रोक लें या उन्हें डाइवर्ट कर दें ताकि भारी वाहनों की इंट्री

दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ रहा है. बुधवार की सुबह स्मॉग की चादर में लिपटी नजर आई. विजिबिलिटि 100 मीटर से भी कम हो गई है. आज सुबह दिल्ली-एनसीआर में जिस तरह की धुंध छाई वो दिवाली के अगले दिन से भी ज्यादा थी. मौसम विभाग के मुताबिक, अगर हवा का बहाव बहुत तेज नहीं हुआ तो दिल्ली को कम से कम तीन दिनों तक इस भीषण प्रदूषण की मार झेलनी पड़ सकती है.  बड़ी मात्रा में धूल, ह्यूमिडिटी ज्यादा होने और हवा का बहाव बेहद कम होने के कारण एयर क्वॉलिटी खराब हुई है. राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र वायु प्रदूषण

दिल्ली-एनसीआर में मंगलवार की सुबह धुंध के साथ हुई. एक बार फिर लोगों को सांस लेने में तकलीफ हुई. अब एनजीटी ने प्रदूषण के मसले पर दिल्ली सरकार को फटकार लगाई है. NGT ने दिल्ली सरकार से पूछा है कि क्या आपको अंदाजा है कि बच्चे सांस भी नहीं ले पा रहे हैं, अभी तक आपने हेलिकॉप्टर से छिड़काव क्यों नहीं कराया है. NGT ने पूछा कि आप किस चीज़ का इंतजार कर रहे हैं. एनजीटी ने दिल्ली के साथ ही पंजाब, हरियाणा और यूपी से भी सवाल पूछे हैं. एनजीटी ने कहा कि एक दिन में बताएं कि उन्होंने प्रदूषण