भारतीय सेना में जाने का हर युवा का एक सपना होता है, सेना भर्ती के लिए भारती सेना अंबाला कैंट की ओर से ऊना के इंदिरा मैदान में खुली भर्ती का आयोजन किया गया. सेना भर्ती के दूसरे चरण में मंडी के युवाओं के लिए भर्ती प्रक्रिया शुरू हुई. इसमें मंडी, कुल्लू और लाहौल-स्पीति जिलों के युवाओं ने हिस्सा लिया। दूसरे चरण के पहले दिन मंडी जिला के करीब 3 हजार युवाओं ने मैदान में जमकर पसीना बहाया.इसमें से सिर्फ 3 हजार अभ्यार्थी ही दौड़ का पड़ाव पार कर पाए. सेना भर्ती कार्यालय मंडी के निदेशक कर्नल सोम नाथ गुलिया

सेना ने वेयरहाउस में पिछले 17 सालों से पड़े शव रखने वाले 900 बैग और 150 ताबूत जल्द से जल्द वापस मांगे हैं। वर्ष 1999 में चार लाख अमेरिकी डालर के सौदे में धांधली के आरोपों के बाद इन ताबूतों और शव रखने वाले बैगों को सीबीआइ ने जांच के दौरान अपने कब्जे में ले लिया था। पिछले हफ्ते वायुसेना और थलसेना के कुल सात अफसरों के शवों को प्लास्टिक के थैलों और कार्डबोर्ड में बांधकर ले जाने पर थल सेना ने बॉडी बैग और ताबूतों को वापस हासिल करने की हड़बड़ी शुरू हो गई है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि

भारतीय थलसेना के लिए छह अपाचे अटैक हेलिकॉप्टर खरीदे जाएंगे। रक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को इस संबंध में लंबित प्रस्ताव में मंजूरी दे दी। हेलिकॉप्टरों की खरीद पर 4,168 करोड़ रुपए का खर्च आएगा। थलसेना को पहली बार अटैक हेलिकॉप्टर मिलेंगे। रक्षा मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता वाली रक्षा खरीद परिषद (डीएसी) की बैठक में सौदे को हरी झंडी दिखाई गई। डीएसी ने नौसेना के जहाजों के लिए 490 करोड़ रुपए के दो गैस टरबाइन इंजन खरीदने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी। अब रक्षा संबंधी मंत्रिमंडलीय समिति से सौदे की मंजूरी लेनी होगी। सेना के सूत्रों के मुताबिक, 2020 तक

दक्षिण कश्मीर में पुलिस और सुरक्षाबलों पर डेढ़ घंटे में तीन आतंकी हमले हुए। शोपियां में सेना और पुलिस का संयुक्त काफिला अपने शिविर की तरफ लौट रहा था। गुरुवार रात करीब नौ बजे चकोरा के पास पहले से घात लगाए बैठे आतंकियों ने काफिले पर हमला कर दिया। जवानों ने भी जवाबी फायरिंग की। लेकिन आतंकी अंधेरे का फायदा उठाकर भाग निकले। इस हमले में सेना के दो जवान जख्मी हो गए। वहीं आतंकियों ने फिर कायरतापूर्ण हरकत करते हुए रात करीब दस बजे कुलगाम में छुट्टी पर घर आए पुलिस कांस्टेबल को गोली मार दी। जिससे वो गंभीर

डोकलाम में चीन के साथ विवाद और दूसरी तरफ कश्मीर में पाकिस्तान के साथ एलओसी पर चल रहे संघर्ष के बीच कैग की चौंकाने वाली रिपोर्ट सामने आई है, जिसमें कहा गया है कि सेना के पास महज दस दिनों का ही ऑपरेशनल वॉर रिजर्व है। जानकारों की मानें तो गोला बारूद कम से कम 40  दिनों का होना चाहिए, लेकिन सेना ने इसे घटाकर बीस दिनों का कर दिया था। बावजूद इसके सेना के पास ऑपरेशनल वॉर रिजर्व गोला बारूद महज 10 दिनों का ही है।  शुक्रवार को संसद में रखी रिपोर्ट में कैग ने खराब गोलाबारूद को लेकर भी

जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने घाटी में हिंसा और अशांति के हालातों के बीच बातचीत की वकालत की. मुफ्ती ने जम्मू-कश्मीर विधानसभा में दिए एक बयान में कहा कि सीमा पर हमारे सैनिक मर रहे हैं. बंदूक और फौजी ताकतें किसी समस्या का हल नहीं हो सकता. बातचीत से ही मुद्दे सुलझाए जा सकते हैं. जम्मू-कश्मीर में लोकतंत्र का गला घोंटा गया, कश्मीर में आतंकवाद कांग्रेस और नेशनल कॉन्फ्रेंस की देन है. सेना हालात सामान्य नहीं कर सकती.  महबूबा ने कहा, 65 की जंग हुई, 71 की जंग हुई, क्या हासिल हुआ? जंग में दोनों तरफ के गरीब लोग ही मारे जाते हैं.

जम्मू जम्मू कश्मीर में सुरक्षा बलों ने आतंकियों की नापाक कोशिश को नाकाम कर दिया है. सुरक्षा बलों ने गुरेज सेक्टर में घुसपैठ कर रहे आतंकियों को भगा दिया. इस दौरान एक घुसपैठिया जवानों की फायरिंग में मारा गया. वहीं, जवानों को घुसपैठिये के पास से एक हथियार भी बरामद भी हुआ. फिलहाल ऑपरेशन जारी है. वहीं, जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में आतंकी हमला हुआ. अनंतनाग में आतंकियों ने सुरक्षा बलों को निशाना बनाया और उनकी गाड़ी पर फायरिंग की. फायरिंग काजीगुंड में हुई. इस दौरान एक कार सवार नागरिक घायल हो गया. आतंकी हमले में सुरक्षाबल के जवान सुरक्षित हैं. जवाबी कार्रवाई

दार्जिलिंग पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग में गुरुवार को हुए हिंसक प्रदर्शन के बाद हालात तनावपूर्ण हैं. पूरा शहर बंद है. सेना की 8 टुकड़ियां बुलाई गई हैं, जिनमें चार कलिंग्पोंग, 3 दार्जीलिंग और एक कुर्सियोंग में तैनात है. इसके अवाला दूसरे सुरक्षाबलों और राज्य पुलिस की भी तैनाती की गई है. यहां पहले से मौजूद सैलानी परेशान हैं कि कैसे यहां से जल्द से जल्द निकला जाए. गुरुवार को गोरखा मुक्ति मोर्चा के समर्थकों ने जमकर हंगामा किया था. पुलिस पर पथराव किया और कई गाड़ियों को आग लगा दी थी, जिसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा था. हालात इतने बिगड़ गए

सीमा पर आतंकवादियों की घुसपैठ की एक बड़ी कोशिश को भारतीय सेना ने फिर नाकाम कर दिया है. आतंकियों के मंसूबों पर पानी फेरते हुए सेना ने कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के माछिल सेक्टर में चार आतंकवादियों को ढेर कर दिया है. बाकी आतंकियों की तलाश जारी है. बुधवार को सेना के एक अधिकारी की ओर से यह जानकारी दी गई है. इलाके में सेना का ऑपरेशन अब भी जारी है. श्रीनगर में सेना के प्रवक्ता राजेश कालिया ने बताया कि बीती रात लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) पर तैनात जवानों ने देखा कि आतंकवादियों का एक समूह माछिल सेक्टर में घुसपैठ की

जम्मू-कश्मीर में सेना के काफिले पर आतंकी हमला हुआ है. सेना का ये काफिला जम्मू से श्रीनगर की ओर जा रहे थे, तभी जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर काजीगुंड के पास आतंकियों ने उन पर अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी. इस आतंकी हमले में दो जवान शहीद हो गए, जबकि 4 जवानों के गंभीर रूप से घायल होने की खबर है. वहीं सेना ने पूरे इलाके को घेर लिया है और आतंकियों की धरपकड़ के लिए तलाशी अभियान चला रही है. हाल के दिनों में कश्मीर में आतंकी हमले तेज हुए हैं. सेना ने भी ऑपरेशन तेज कर दिया है. पिछले हफ्ते त्राल में सेना