मुंबई : भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) की पूर्व चेयरपर्सन अरुंधति भट्टाचार्य ने गुरुवार कहा कि बैंकों को नोटबंदी की तैयारी के लिये और समय दिया जाना चाहिए था. नोटबंदी के दौरान बैंकों पर काफी दबाव पड़ा है. पिछले साल आठ नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 और 1,000 रुपये के नोट को चलन से हटाने का फैसला किया था. इस पहल का मकसद कालाधन, भ्रष्टाचार और नकली मुद्रा पर लगाम लगाना था. अरुंधति ने इंडिया टुडे के एक कार्यक्रम में कहा, अगर हम किसी नयी तरह की चीज के लिये तैयार होते हैं, तब यह ज्यादा सार्थक और बेहतर होता. स्पष्ट

दिल्ली केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने एसबीआई के नए प्रमुख के चयन की प्रक्रिया की शुरुआत कर दी है. एसबीआई प्रमुख अरूंधती भट्टाचार्या का विस्तारित सेवाकाल 6 अक्टूबर को खत्म हो रहा है. ऐसे में उनका कार्यकाल खत्म होने से पहले नए प्रमुख का चयन किया जाना जरूरी है. वित्त मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, “वित्तीय सेवा विभाग ने बैंक बोर्ड ऑफ ब्यूरो के साथ बातचीत कर देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक के खाली हो रहे पद के बारे में जानकारी दी है. इस पद को मौजूदा प्रमुख के कार्यकाल खत्म होने से पहले भरा जाना है.” विभाग ने यह जानकारी