अयोध्या में राम मंदिर को तोड़कर बाबरी मस्जिद बनी थी. शरीयत इजाजत नहीं देता कि मंदिर तोड़कर मस्जिद बनायी जाए. हमने विवादित परिसर से अलग जमीन मांगी है ताकि वहां मस्जिद बनायी जा सके. उक्त बातें शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने कही. उन्होंने लखनऊ में प्रेस कॉन्फेंस आयोजित करके कहा, हम मानते हैं कि वहां मंदिर था उसे तोड़कर मस्जिद बना. पुरातत्व विभाग ने अपनी रिपोर्ट में यही कहा है, उन्होंने कहा वक्फ बोर्ड के नियमों के अनुसार मस्जिद की जमीन किसी और को ट्रांसफर नहीं की जा सकती. मौजूदा समय में वहां मस्जिद नहीं है. उस

दिल्ली बीजेपी नेता और केंद्र सरकार में मंत्री उमा भारती ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि हमारे खिलाफ कोई भी साजिश नहीं हुई, सब खुल्लम-खुल्ला हुआ है. अयोध्या, गंगा और तिरंगे के लिए मैं कोई भी सजा भुगतने को भी तैयार हूं. उन्होंने कहा, आज ही रात को अयोध्या जा रही हूं. रामलला के दर्शन करूंगी. राम मंदिर के लिए जो करना होगा करूंगी. उमा ने कहा कि हां मैं 6 दिसंबर को मौजूद थी, इसमें साजिश की कोई बात नहीं. अयोध्या आंदोलन में मेरी भागीदारी थी, मुझे कोई खेद नहीं. मैं इसके लिए कोई भी