यू.आई.डी.ए.आई. ने NRI's और भारतीय मूल के व्यक्तियों (पी.आई.ओ.) को बड़ी राहत दी है। प्राधिकरण ने कहा कि एन.आर.आई. और पी.आई.ओ. को बैंक खातों समेत दूसरी अन्य सेवाओं को आधार के साथ जोड़ने की जरूरत नहीं है। इसके साथ ही प्राधिकरण ने विभिन्न कार्यान्वयन एजेंसियों को ऐसे लोगों की स्थिति की पुष्टि के लिए एक तंत्र तैयार करने के निर्देश दिए। प्राधिकरण की ओर से कहा गया है कि मनी लॉन्ड्रिंग नियम 2017 और आयकर अधिनियम के तहत उन्हीं लोगों को बैंक खातों और पैन को क्रमश: आधार से जोड़ना निर्धारित है, जो आधार नामांकन के लिए पात्र है। यू.आई.डी.ए.आई. ने

मोहाली में सेक्टर-71 के बैंक में पैसे जमा करवाने एक युवक से ठगी का मामला सामने आया है. जानकारी के मुताबिक, निजी कंपनी में काम करने वाला युवक बैंक में 25 हजार रुपए जमा करवाने आया था. इसी दौरान दो युवक उसके पास आए और एटीएम से पैसा जमा करवाने का झांसा देकर पैसे ले लिए और वहां से फरार हो गए. फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और जांच शुरू कर दी है.

कई महीनों की देरी के बाद आखिर अब पेटीएम का भुगतान बैंक 23 मई से शुरू हो जायेगा. उसे इसके लिये रिजर्व बैंक से अंतिम मंजूरी मिल गई है. पेटीएम ने सार्वजनिक तौर पर जारी नोटिस में कहा है, ‘पेटीएम पेमेंट बैंक लिमिटेड (पीपीबीएल) को रिजर्व बैंक से अंतिम लाइसेंस प्राप्त हो गया है और यह 23 मई 2017 से काम करना शुरू कर देगा.’’ पेटीएम अपना वॉलेट का पूरा कारोबार पीपीबीएल में स्थानांतरित कर देगी. इसमें 21.80 करोड़ मोबाइल बटुआ इस्तेमाल करने वाले लोग जुड़े हैं. भुगतान बैंक का यह लाइसेंस भारतीय निवासी विजय शेखर शर्मा को मिला है. विजय शेखर

सरकार ने सात सरकारी बैंकों के नए प्रबंध निदेशक और मुख्यकार्यकारी अधिकारियों को नियुक्त किया। इन नई नियुक्तियों में इंडियन ओवरसीज बैंक के एमडी और सीईओ आर सुब्रमणिया कुमार का नाम भी शामिल है। सुब्रमणिया कुमार मौजूदा समय में आईओबी के एक्जीक्यूटिव डॉयरेक्टर हैं। कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) की ओर से जारी एक आदेश में कहा है कि वह 30 जून, 2019 तक इस पद की जिम्मेदारी संभालते रहेंगे। आपको बता दें कि मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति ने इन नियुक्तियों को मंजूरी दी है। राजकिरण राय जी अब यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के नए एमडी और सीईओ होंगे। मौजूदा समय में