बेंगलुरु यहां के एजिपुरा में सोमवार को एक धमाके के साथ चार मकान जमींदोज हो गए। हादसे में 7 लोगों की मौत हो गई। जान गंवाने वाले एक पैरेंट्स की बच्ची को मलबे से जिंदा निकाला गया है। उसकी उम्र 2 से 3 साल है। उसके परिवार में उसकी देखरेख करने वाला कोई नहीं बचा है, ऐसे में अब राज्य सरकार ने उसे गोद लेने का फैसला किया है। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, बिल्डिंग्स एलपीजी सिलेंडर में ब्लास्ट से हुई हैं। हालांकि, सरकार की ओर से आए बयान में कहा गया है कि वहां रखे सिलेंडर में गैस नहीं है। माना