नई दिल्ली भारतीय सेना के पहले कमांडर इन चीफ फील्ड मार्शल केएम करिअप्पा को भारत रत्न देने की मांग उठी है। यह मांग सेना प्रमुख बिपिन रावत ने उठाई है। सेना प्रमुख ने शनिवार को दिए बयान में कहा है कि अगर दूसरों को यह सम्मान मिल सकता है तो फिर करिअप्पा को क्यों नहीं। जनरल रावत ने कहा, 'अब समय आ गया है कि भारतरत्न के लिए फील्ड मार्शल करिअप्पा के नाम की सिफारिश की जाए।' जनरल रावत ने कहा कि यह यदि यह सम्मान (भारत रत्न) अन्य लोगों को मिल सकता है तो मेरी समझ में यह नहीं आता कि

आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने कश्मीर के चोटी कांड पर शनिवार को कहा कि ऐसी घटनाओं के बहाने कुछ लोग आर्मी और आम जनता को टारगेट कर रहे हैं। ये देश के बाकी शहरों में भी हो चुका है और उसकी सच्चाई सामने आ चुकी है। लेकिन अब जो यहां हो रहा है, वह आतंकियों के फ्रस्ट्रेशन को दिखाता है। कश्मीर में पुलिस अपना काम कर रही है। बता दें कि घाटी में बीते दो महीने में चोटी काटने की 100 से ज्यादा घटनाओं की अफवाह उड़ी। साथ ही, मारपीट की भी कई घटनाएं सामने आईं। इसके विरोध में

देहरादून इंडियन मिलिट्री अकेडमी देहरादून में पासिंग आउट परेड के दौरान रिक्रूट्स को संबोधित करते हुए शनिवार को भारतीय सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने जम्मू-कश्मीर में महिला सैनिकों की तैनाती की बात कही. उन्होंने कहा, ‘कश्मीर में ऑपरेशन के दौरान जवानों के सामने ढाल बनकर महिलाएं खड़ी हो जाती हैं. इससे परेशानी का सामना करना पड़ता है. इस समस्या से निपटने के लिए सेना में महिला पुलिस जवान की नियुक्ति की जाएगी.’ आर्मी चीफ ने आगे कहा, ‘क्योंकि हम लोग कई बार जब ऑपरेशन में जाते हैं तो हमें आवाम का सामना करना पड़ता है. कई बार तो महिलाएं ही हमारे सामने

दिल्ली भारतीय सेना में महिलाओं को लड़ाकू भूमिका देने के लिए आर्मी ने कमर कस ली है. भारतीय सेना जल्द ही लड़ाकू भूमिका में महिलाओं की नियुक्ति करेगी. बता दें कि वैश्विक स्तर पर कुछ ही देश हैं, जहां महिलाएं सेना में पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर मोर्चे पर लड़ती हैं. सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने कहा कि महिलाओं को लड़ाकू भूमिका देने की तैयारी शुरू हो गई है. मौजूदा दौर में केवल पुरुष ही लड़ाकू भूमिका में रखे जाते हैं. इसके लिए सबसे पहले मिलिट्री पुलिस में महिलाओं की नियुक्ति होगी. जनरल रावत ने कहा, 'मैं महिलाओं को जवान

भारतीय सेना के प्रमुख बिपिन रावत श्रीनगर पहुंच गए है. श्रीनगर में सेना प्रमुख बिपिन रावत सेना के कमांडरों से मुलाकात करेंगे और घाटी में सुरक्षा हालातों के अलावा एलओसी पर जाकर भी हालात का जायजा ले सकते हैं. हाल ही में घाटी में पत्थरबारी की घटनाएं काफी बढ़ी हैं. इसके अलावा आतंकी भी लगातार घुसपैठ की कोशिश कर रहे हैं.