सात साल की रिसर्च के बाद नेशनल एग्री फूड बायोटेक्नोलाॅजी इंस्टीट्यूट मोहाली ने ब्लैक व्हीट का पेटेंट करा लिया है। काले, नीले और जामुनी रंग में मिलने वाली ये गेहूं आम गेहूं से कहीं ज्यादा पौष्टिक है। ये कैंसर, डायबिटीज, तनाव, मोटापा और दिल की बीमारियों की रोकथाम में मददगार साबित होगी। रोजाना खा सकते हैं। देश में पहली दफा ये पंजाब में उगाई जाएगी। हालांकि ट्रायल के तौर पर किसानों के जरिए इसका 850 क्विंटल उत्पादन किया जा चुका है। किसानों को भी इसका आम गेहूं के मुकाबिले दोगुना दाम मिलेगा। मोहाली में 2010 से चल रही रिसर्च साइंटिस्ट