ब्लूव्हेल गेम के कई बच्चों के शिकार होने के बाद कैथल में इंस्टीट्यूशनल एक्सीलेंस फोरम ने एक बिहेवियरल टूल किट तैयार की है.  ये किट ब्लूव्हेल गेम मात देने के लिए तैयार की गई है. इंस्टीट्यूशनल एक्सीलेंस फोरम ने कई हजार बच्चों पर परीक्षण के बाद ये किट तैयार की है. इस किट को लेकर संस्था के सदस्य हरियाणा सहित अन्य राज्यों में कार्यशाला आयोजित कर बच्‍चों को इस बारे में बता रहे हैं और जागरूक कर रहे हैं. कार्यशाला के आयोजन में हरियाणा बाल अधिकारी संरक्षण आयोग और शिक्षा विभाग का भी सहयोग लिया जा रहा है. प्रदेश में अब

हरियाणा के पंचकूला का 17 वर्षीय स्टूडेंट ब्लू व्हेल गेम का शिकार होने की खबर है। जानकारी के मुताबिक, चंडीगढ़ के डीएवी स्कूल सेक्टर-8 के 10वीं के स्टूडेंट करण ठाकुर ने शनिवार को अपने पंचकूला स्थित हाउस नंबर 217 सेक्टर-4 में फंदा लगा कर सुसाइड कर लिया। रविवार को पोस्टमार्टम के बाद उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। लेकिन शाम को जब करण के सामान की जांच की तो उसमें कुछ डायग्राम मिले, जिसमें आत्महत्या के तरीके थे और जब छानबीन की तो उसके मोबाइल में ब्लू व्हेल गेम मिला। [caption id="attachment_42483" align="alignnone" width="300"] नोटबुक में बनाए अजीब डायग्राम[/caption] करण के भाई

ब्लू व्हेल गेम को लेकर पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट सख्त हो गया है। ब्लू व्हेल गेम मामले में सुनवाई के बाद कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकार को नोटिस जारी किया है। जानकारी के अनुसार ब्लू व्हेल गेम को लेकर पंजाब में सामने आ रहे मामलों के चलते कोर्ट ने एडवोकेट हितेश कप्लीश की याचिका पर सुनवाई करते हुए केंद्र के साथ-साथ पंजाब हरियाणा और चंडीगढ़ को भी नोटिस किया जारी किया है।  हाईकोर्ट ने कहा कि केंद्र सरकार उन सर्च इंजनज पर रोक लगाए जहां से गेम डाऊनलोड होती है। इस मामले पर अगली सुनवाई 20 सितंबर रखी गई है। साथ ही याचिकाकर्ता

झज्जर के सासरौली गांव में दसवीं क्लास के छात्र का रहस्यमयी हालत में शव मिला है। मृतक के परिजनों ने शव को एक खाली प्लाट से बरामद किया। पोस्टमार्टम की शुरुआती जांच में छात्र की मौत का कारण फांसी का फंदा लगाया माना जा रहा है। जानकारी के मुताबिक मृतक सत्रह साल का रोहित सासरौली गांव के सरकारी स्कूल में पढ़ता था। वीरवार सुबह उसने अज्ञात कारणों के चलते अपनी जान दे दी। मृतक के हाथ पर कट और गले पर निशान भी है। जिसको डॉक्टर शुरूआती जांच में फंदा लगाकर आत्महत्या करने का मामला बता रहे हैं। वहीं पुलिस

तमिलनाडु के उप शहरी क्षेत्र थिरूमंगलम के समीन मोट्टामलाई गांव में आज एक कालेज छात्र ने गेम ब्लू व्हेल के कारण फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि बी. कॉम द्वितीय वर्ष का छात्र जे. विगनेश अपने कमरे में फंदे से लटकता पाया गया। उसकी बाईं भुजा पर ब्लू व्हेल की आकृति बनी हुई थी और ब्लू व्हेल शब्द लिखा हुआ था। पुलिस ने बताया कि विग्नेश के घर से एक नोट बरामद हुआ है इसमें उसने है, 'ब्लू व्हेल- यह एक गेम नहीं है, बल्कि खतरा है। एक बार जब आप इसमें प्रवेश कर जाएंगे, तो आप

दिल्ली के अशोक विहार इलाके में बुधवार को ग्याहरवीं के एक छात्र कुश ने घर के चौथे फ्लोर से कूदकर खुदकुशी की कोशिश की. वह अभी सर गंगाराम अस्पताल के आईसीयू में भर्ती है. इस तरह की खबरें आ रही है कि कुश ब्लू व्हेल गेम खेला करता था. हालांकि पुलिस का कहना है कि अभी तक की जांच में ऐसा कुछ नहीं मिला है, क्योकि शरीर पर कोई ऐसे निशान नहीं मिले है. जिस जगह से बच्चे ने खुदकुशी की कोशिश की, वहां उसकी चप्पल, चश्मा और मोबाइल मिला है. बताया जा रहा है मूड़ा भी वहां था जिसपर चढ़कर

मुंबई के अंधेरी ईस्ट में सोमवार को 9वीं में पढ़ने वाले 14 साल के मनप्रीत ने 6 मंजिला बिल्डिंग से कूदकर जान दे दी. आशंका है कि एक ख़तरनाक मोबाइल गेम का टास्ट पूरा करने के लिए उसने यह कदम उठाया. हालांकि, पुलिस ने खुदकुशी का मामला दर्ज किया है. मनप्रीत के दोस्त मान रहे हैं कि मोबाइल गेम 'ब्लू व्हेल चैलेंज गेम' का टास्क पूरा करने के लिए उसने यह कदम उठाया है. वह पिछले कुछ दिन से इसी गेम में बिजी था. गेम में 50 लेवल होते हैं और अंतिम लेवल में ऊंची छत से कूदकर जान देना होता