2011 में राष्ट्रपति बशद अल असद के खिलाफ किए गए विरोध प्रदर्शन के साथ ही सीरिया में भीषण युद्ध की शुरूआत हो गई थी. और आज भी जारी इस युद्ध के खिलाफ रूस ने एक अभियान शुरू कर दिया है. जिसके तहत आतंकी संगठन IS को सीरिया से खदेड़ने के लिए फरात नदी के पास भीषण बमबारी की गई. पूर्वी सीरिया में विस्थापित लोगों के लिए बनाए गए दो शिविरों और इसके आसपास के इलाके में हुई गोलाबारी में 50 से ज्यादा नागरिकों की मौत की खबर है, सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स के मुताबिक पिछले शुक्रवार की रात से दीर