शियामेन: चीन के शियामेन में चले तीन दिन के ब्रिक्स शिखर सम्मेलन का आज आखिरी दिन था. डोकलाम विवाद के बाद आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच आज द्विपक्षीय वार्ता हुई. इस मुलाकात में दोनों देशों के बीच बॉर्डर पर शांति बनाए रखने पर सहमति बनी है. विदेश मंत्रालय की तरफ से बयान जारी कर बताया गया है कि दोनों देशों के बीच बॉर्डर पर शांति बनाए रखने पर सहमति बनी है. साथ ही दोनों देशों ने इस बात पर सहमति जताई है कि अगर भविष्य में दोनों देशों के बीच कोई मतभेद होता है तो उसे विवाद

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में बड़ी जीत हासिल की है। सुरक्षा और आतंकवाद को लेकर भारत का कूटनीतिक दबाव रंग लाया है। ब्रिक्स के जारी घोषणा पत्र में कहा गया है कि कहीं भी और किसी भी तरह का आतंकवाद मंजूर नहीं है। सम्मेलन में हर तरह के आतंकवाद की निंदा हुई है और ब्रिक्स के शिखर नेताओं ने साफ कहा है कि उन्हें कोई भी आतंकी हमला मंजूर नहीं है। घोषणा पत्र में हालांकि पाकिस्तान का नाम नहीं लिया गया है, लेकिन उसकी जमीन से संचालित होने वाले आतंकी संगठनों का इसमें जिक्र किया गया है। घोषणा पत्र