एक अक्टूबर से देश में कई बड़े बदलाव होने वाले है. ये सारे बदलाव हमारे रोजमर्रा के जीवन से जुड़े हुए हैं. अगले महीने से एसबीआई के सेविंग बैंक अकाउंट पर नया नियम लागू हो जाएगा. साथ ही, कोई भी दुकानदार पुराने एमआरपी पर सामान नहीं बेच पाएंगे. इसके अलावा अक्टूबर में आपको सस्ते काॅल रेट्स की सौगात भी मिल सकती है. सेविंग अकाउंट पर लागू होगा नया नियम > देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक ने हाल में सेविंग अकाउंट पर न्यूनतम चार्जेस को घटाने का ऐलान किया था. > बैंक ने अब मिनिमम बैंलेंस लिमिट 5000 से 3000 रुपये कर दी

सरकार ड्राइविंग लाइसेंस और नया वाहन खरीदने के लिए आधार को अनिवार्य करने जा रही है. इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स और इंफोर्मेशन टेक्‍नोलॉजी मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने इस बात के संकेत एक कॉन्‍फ्रेंस में दिए. उन्‍होंने कहा कि हम ड्राइविंग लाइसेंस को आधार से लिंक करने की योजना बना रहे हैं. इस मुद्दें पर नितिन गडकरी के साथ बातचीत हुई है. एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक केंद्र सरकार की योजना अगले महीने से सभी ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आधार को अनिवार्य करने की है. इस कदम का लक्ष्‍य एक ही व्‍यक्ति द्वारा एक से अधिक लाइसेंस हासिल करने पर रोक लगाना है. लोग

अगर आप महंगी कार खरीदने का मन बना रहा है तो उसे इस फैसले से पहले खरीद लें क्योंकि जीएसटी परिषद ने पहले ही एसयूवी, मध्यम आकार की व बड़ी एवं लक्जरी कारों पर उपकर (सेस) की दर को मौजूदा 15 प्रतिशत से बढ़ाकर 25% करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. आज कैबिनेट की बैठक में सरकार द्वारा इस पर मुहर लगाने की संभावना है. गौरतलब है कि जीएसटी के तहत कारों को उच्चतम दर 28% कर की श्रेणी में रखा गया है. इस वर्ग में वस्तुओं व सेवाओं पर 1-15% तक का सेस भी लगाया गया है, ताकि

अगर आप अपना एटीएम पिन भूल गए हैं, तो आपको परेशान होने की आवश्यकता नहीं, क्योंकि जल्द ही आप अगली पीढ़ी के बायोमीट्रिक कार्ड के ज़रिये अपनी अंगुली के निशान से ही भुगतान कर सकेंगे. अमेरिका की कार्ड कंपनी मास्टरकार्ड ने आज नए बायोमीट्रिक कार्ड की शुरुआत की, जिसमें लगे चिप और अंगुलियों के निशान के ज़रिये किसी भी स्टोर पर सामान खरीदते समय कार्डधारक की पहचान की पुष्टि की जा सकती है. हाल ही में दक्षिण अफ्रीका में प्रायोगिक तौर पर कार्ड के परीक्षण किए गए. अंगुलियों के निशान की स्कैनिंग करने की तकनीक पर आधारित कार्ड का निर्माण अभी मोबाइल

नई दिल्ली के पॉश मानसिंह रोड पर बने ताज मानसिंह होटल की ई-नीलामी को सुप्रीम कोर्ट ने हरी झंडी दे दी है. सुप्रीम कोर्ट ने NDMC को कहा है कि अगर नीलामी में टाटा ग्रुप को सफलता नहीं मिलती तो उसे होटल खाली करने के लिए 6 महीने का वक्त दिया जाए.  इससे पहले NDMC ने सुप्रीम कोर्ट में जवाब दाखिल कर कहा था कि वो ई-ऑक्शन कराना चाहती है. कोर्ट ने टाटा ग्रुप की इंडियन होटल कंपनी लिमिटेड IHCL को कहा था अगर उन्हें कोई आपत्ति है तो वो एक हफ्ते में जवाब दाखिल करें. इसी साल 12 जनवरी को

अगर आप नया फ्लैट खरीदने की सोच रहे हैं तो निश्चित तौर पर आपको 1 मई तक का इंतजार कर लेना बेहतर होगा। 1 मई से रेग्युलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट के लागू हो जाएगा। एक्सपर्ट्स का मानना है कि इसके लागू हो जाने के बाद देश में रियल एस्टेट सेक्टर में बड़े बदलाव आएंगे। रेग्युलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट के अस्तित्व में आने के बाद रियल एस्टेट सेक्टर में पारदर्शिता आएगी और कंपनियों की जवाबदेही भी बढ़ेगी। इस तरह नए कानून का अस्तित्व में आना फ्लैट खरीदने वालों के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। नए एक्ट के अंतर्गत हर प्रदेश में

Snapchat के सीईओ द्वारा भारत को गरीब देश कहे जाने वाले बयान के वायरल होने से कंपनी की काफी आलोचना की जाने लगी, जिसके बाद सोमवार को इसके शेयर 1.5 फीसदी तक गिर गए. बयान में सीईओ ने कहा था कि भारत एक गरीब देश है और उनका ऐप अमीरों के लिए है. हालांकि कंपनी की तरफ से आए बयान में उन्होंने कहा कि, 'उन शब्दों को असंतुष्ट पूर्व कर्मचारी द्वारा लिखा गया था. हम भारत और दुनिया भर में हमारे स्नैपचैट समुदाय के लिए आभारी हैं.' ट्विटर यूजर्स ने कंपनी के सीईओ के बयान के बाद #boycottsnapchat हैशटैग के साथ सोशल

सार्वजनिक क्षेत्र की बीमा कंपनी एलआईसी ने सिगरेट बनाने वाली कंपनी आईटीसी में निवेश कर हजारों करोड़ रुपये का लाभ कमाया है. निजी बीमा कंपनियों की स्वास्थ्य के प्रति जवाबदेही की नीति के चलते सिगरेट कंपनियों से निवेश निकालने का फायदा एलआईसी जैसी सरकारी कंपनियों को मिला है. वैश्विक स्तर पर कई बीमा तथा म्यूचुअल फंड कंपनियां तंबाकू जैसे क्षेत्रों में निवेश से दूर रहती हैं. पिछली तिमाही में सार्वजनिक क्षेत्र की चारों बीमा कंपनियों को आईटीसी में अपनी 21 प्रतिशत पर 15,000 करोड़ रुपये का लाभ हुआ जब कि पूरे 2016-17 इस निवेश पर फायदा 20,000 करोड़ रुपये से अधिक

आईटी सेक्टर की बड़ी कंपनी इंफोसिस का मार्च तिमाही में नेट प्रॉफिट 3,603 करोड़ रुपये रहा। गुरुवार को कंपनी  ने चौथे क्‍वार्टर के नतीजे पेश किए हैं।  वित्त वर्ष 2016-17 की चौथी तिमाही में इंफोसिस का मुनाफा 3 फीसदी घटकर 3603 करोड़ रुपए रहा है जबकि, तीसरी तिमाही में इंफोसिस का मुनाफा 3708 करोड़ रुपए रहा था। वहीं आय में भी 0.9 फीसदी घटी है। हालांकि कंपनी की डॉलर आय 0.7 फीसदी बढ़कर 256.90 करोड़ डॉलर रही है। इंफोसिस के मुताबिक, फाइनेंशियल ईयर 2017-18 में कंपनी की आय में 6.5 फीसदी से 8.5 फीसदी की ग्रोथ देखने को मिल सकती है। बोर्ड

अब तक के सबसे बड़े फंडिंग राउंड में 9,000 करोड़ रुपये जुटाने के बाद फ्लिपकार्ट की नजर ऐसे बिजनेस पर है, जिससे उसका आमना-सामना चीन की दिग्गज कंपनी अलीबाबा से हो सकता है। इसके साथ देश की सबसे बड़ी ऑनलाइन रिटेल कंपनी एमेजॉन के मुकाबले बढ़त बनाए रखने के लिए कोर बिजनेस में भी निवेश बढ़ाएगी। चीन की टेनसेंट और अमेरिकी फर्म ईबे इंक और माइक्रोसॉफ्ट की फंडिंग के बाद फ्लिपकार्ट का हौसला बढ़ा है। वह इस रकम का इस्तेमाल अपनी पेमेंट सब्सिडियरी फोनपे और प्राइवेट लेबल्स पोर्टफोलियो को बढ़ाने और फर्नीचर और ग्रॉसरी जैसी कैटेगरी को री-लॉन्च करने के लिए