स्मॉग को लेकर पाकिस्तान में भी सियासत शुरू हो गई है। पाकिस्तानी पंजाब के मुख्यमंत्री शहबाज शरीफ ने भी पंजाब के मुख्यमंत्री को इस मामले पर चिट्ठी लिख कर पहले आपसी सहयोग की बात की और चिट्ठी के मुख्यमंत्री कार्यालय तक पहुंचने से पहले ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की तर्ज पर उसको ट्विटर पर सार्वजनिक कर दिया। इस चिट्ठी के सार्वजनिक होते ही पाकिस्तानी मीडिया ने इसे हाथों-हाथ लिया और यह खबर पाकिस्तानी मीडिया की सुॢखयों में आ गई। पाकिसतानी पंजाब के मुख्यमंत्री शहबाज शरीफ द्वारा मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह को लिखे गए पत्र का मुख्यमंत्री के मीडिया

बढ़ते प्रदूषण पर पंजाब सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एक बार फिर केंद्र सरकार से सहयोग की अपील की. कैप्टन अमरिंदर सिंह के मुताबिक ये मामला पूरी तरह से केन्द्र सरकार के अधिकार क्षेत्र में आता है, और इस समस्या का समाधान केंद्र सरकार ही निकाल सकती है.  कैप्टन अमरिंदर सिंह ने दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल के मुलाकात कर मसला हल करने के सुझाव को रद्द कर दिया था. अमरिंदर सिंह के मुताबिक दोनों राज्यों के बीच होने वाली बैठकों से प्रदूषण की समस्या का हल नही हो सकता. पंजाब सीएम ने केजरीवाल को मामले में राजनीति नहीं करने की

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंद्र सिंह ने पराली के धुएं पर बातचीत के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के न्यौते को फिर ठुकरा दिया है. अमरिंदर सिंह ने साफ तौर पर कहा कि ऐसी किसी बैठक का कोई मतलब नहीं है और वह दिल्ली के सीएम से नहीं मिलेंगे. दरअसल केजरीवाल ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को ट्वीट कर कहा था कि वो बुधवार को हरियाणा सीएम मनोहर लाल के साथ चर्चा के लिए चंडीगढ़ आ रहे हैं, बेहतर होता कि कैप्टन अमरिंदर सिंह भी बातचीत में शामिल हो जाते. केजरीवाल ने चंडीगढ़ में होने वाली बैठक में शामिल होने के

पंजाब में हिंदू संगठन के नेताओं की हत्या मामले में पुलिस ने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ होने का दावा किया है. पंजाब पुलिस ने हिंदू नेताओं की हत्या मामले में एक लोकल गैंग को जिम्मेदार ठहराया है, जो जेल से ही साजिश रच रहा था और ये लोग आईएसआई के संपर्क में थे. इस मामले की जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी भी कर रही है. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य की पुलिस को योजनाबद्ध तरीकों से की गई हत्या का मामला सुलझाने पर बधाई दी है. सीएम अमरिंदर ने नेताओं की हत्या के मामले में चार लोगों

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह को ट्वीट कर रिक्रूटमेंट एजेंट्स के खिलाफ आपराधिक केस दर्ज कर कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है। वहीं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के ट्वीट पर पंजाब के सीएम एक्शन में आए हैं और पंजाब के डीजीपी को प्रदेश में रिक्रूटमेंट एजेंट्स के खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिए हैं। I have requested @capt_amarinder to register criminal cases and proceed against all Recruitment agents who mislead and cheat our citizens. — Sushma Swaraj (@SushmaSwaraj) November 5, 2017 I have also asked @ProtectorGenGOI to proceed against all such Recruitment agents. — Sushma Swaraj (@SushmaSwaraj) November

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आज केंद्रीय विदेश मंत्री  सुषमा स्वराज को साउदी अरब में मुश्किल में से गुजऱ रही मां -बेटी की सुरक्षित वापसी के लिए मदद के लिए तुरंत दख़ल देने की मांग की है। सुषमा को किये ट्वीट में कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा, ‘‘नवांशहर की दोनों मांँ -बेटी साउदी अरब में मुश्किल में हैं, उनकी जल्द से जल्द मदद करें''.   Please look into this @SushmaSwaraj ji. This Mother-daughter duo from Nawanshahr are in trouble in Saudi Arabia. Request your urgent help. pic.twitter.com/cYZ65HHoKX — Capt.Amarinder Singh (@capt_amarinder) October 30, 2017 इस ट्वीट के जवाब में केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा

चंडीगढ़/जालंधर 10 साल बाद पंजाब में सरकार बनाने वाली कांग्रेस गुरदासपुर उपचुनाव को लेकर कोई रिस्क लेने को तैयार नहीं है। इसके लिए पार्टी कई स्तर पर फीडबैक लेने में जुटी है। इस बीच सोमवार को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह, प्रदेश प्रभारी आशा कुमारी ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की। इससे पहले तीनों के बीच एक बैठक हुई, जिसमें पंजाब के राजनीतिक हालात, विपक्षी दलों के संभावित उम्मीदवारों पर चर्चा हुई। बैठक में आशा कुमारी ने अपने स्तर पर जुटाई गई पार्टी नेताओं व विधायकों की फीडबैक पर कैप्टन के साथ चर्चा की। महत्वपूर्ण बात यह है कि कैप्टन ने ज्यादातर

मोहाली पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने आज मोहाली में युवाओं को नियुक्ति पत्र सौंपें. आपको बता दें कि रोजगार मेले के दौरान युवाओं को नौकरियां दी गई है उन्हें सीएम ने नियुक्ति पत्र सौंपे। गौरतलब है कि चुनाव के दौरान कैप्टन अमरिंदर सिंह ने युवाओं को रोजगार देने का वादा किया था. जिसके बाद उन्होंने युवाओं से फॉर्म भी भरवाए. और अब रोजगार मेला लाकर युवाओं को नौकरियां दी गई है.  

लुधियाना के सिटी सेंटर घोटाला मामले में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को क्लीन चिट मिल गई है। घोटाले में अमरिंदर सिंह के साथ अन्य आरोपियों उनके बेटे रनिंदर सिंह और दामाद रमिंदर सिंह को भी राहत मिल गई है मामले की अगली सुनवाई दो सितंबर होगी। जिसमें दर्ज एफआईआर को रद्द कराने को लेकर फैसला होगा। दरअसल विजीलेंस ने कोर्ट में हलफनामा दायर किया है और केस में दर्ज एफआईआर को रद्द करने की मांग की है। सिटी सेंटर प्रोजेक्ट की घोषणा 2003 में की गई थी और इसे 2006 में लागू किया गया था, तब अमरिंदर सिंह राज्य