पंजाब सरकार के रोजगार मेले को लेकर सियासत गरमा गई है..जहां एक तरफ सरकार घर घर में रोजगार पहुंचाने का दावा कर इस अपनी कामयाबी बता रही है तो वहीं विपक्ष सरकार के इस प्रयास को विफल बता रहा है

अमृतसर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि दस साल तक पंजाब में शासन करने वाले चार महीने में बोलने लगे हैं। सुखबीर सिंह बादल का नाम लिए बगैर कैप्टन ने कहा कि विपक्ष के पास कोई मुद्दा शेष नहीं है, इसलिए वह वर्तमान सरकार को फेल बता रहा है। अभी सरकार को बने महज चार माह ही हुए हैं। जो कमिटमेंट हमने की थी, वह शत प्रतिशत पूरी की जाएगी। कैप्टन यहां वीरवार को पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। किसानों द्वारा आत्महत्या किए जाने के मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कैप्टन ने कहा कि यह विरोधियों की साजिश है। किसानों

राज्य सरकार के पहले आम बजट में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के शाही शहर को अब चार यूनिवर्सिटीज से नई पहचान मिलेगी. आम बजट में खेल प्रेमियों के साथ-साथ शिक्षा, सेहत के समुचित विकास के लिए भारी-भरकम राशि प्रदान किए जाने की घोषणा से शहरवासियों के लिए खुशी का टिकाना नहीं दिखाई दे रहा है. खेलों के विकास के लिए राज्य की पहली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी की स्थापना की घोषणा सबसे अहम है. वहीं सरकारी मेडिकल कॉलेज व सरकारी राजिंदरा कॉलेज को संवारने को 100 करोड़ रुपये, राज्य के सबसे पुराने सरकारी मोहिंदूरा कॉलेज के लिए 10 करोड़ रुपये, सेंट्रल लाइब्रेरी के

चंडीगढ़ पंजाब विधानसभा का बजट सत्र शुरू होने से पहले सरकार की रणनीति पर विचार करने के लिए 13 जून को चंडीगढ़ में पंजाब कांग्रेस विधायक दल की एक अहम बैठक बुलाई गई है. गौरतलब है कि ये कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार द्वारा पेश किए जाने वाला पहला बजट होगा और इस बजट सत्र के लिए विपक्ष के तेवर काफी कड़े रहने के कयास लागए जा रहे हैं. पंजाब कांग्रेस विधायकों की मंगलवार शाम को चंडीगढ़ के पंजाब भवन में होने वाली बैठक में कांग्रेस की रणनीति सदन में क्या रहेगी, इस पर विचार होगा. पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता के मुताबिक,

चंडीगढ़ पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने दिल्ली में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की. इस बैठक में नवांशहर में पासपोर्ट केंद्र खोलने का मुद्दा उठाया गया, ताकि दोआबा क्षेत्र के लोगों को किसी तरह की परेशानियों का सामना ना करना पड़े. साथ ही विदेशों में रह रहे सिखों की सुरक्षा का मुद्दा भी कैप्टन अमरिंदर सिंह ने विदेश मंत्री सुष्मा स्वराज के सामने उठाया. इसके अलावा विदेशों में रह रहे ब्लैकलिस्टड सिख युवकों के मुद्दे पर भी कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सुषमा स्वराज से बातचीत की. वहीं, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को भरोसा दिलाया कि उनकी

बरनाला/श्री फतेहगढ़ साहिब पंजाब में पहले मौसम की मार के किसान परेशान रहा, वहीं अब प्रदेश के कई इलाकों से आग के चलते किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचने की खबरे आ रही हैं. ताजा मामला दो अलग-अलग शहर का है, एक मामला बरनाला के गांव सुखपुरा का है, जहां कटाई के लिए तैयार खड़ी 150 एकड़ गेहूं की फसल जलकर राख हो गई. आग लगने की वजह खेत में खड़े एक ट्रैक्टर में स्पार्क होना बताया जा रहा है. वहीं, दूसरा मामला फतेहगढ़ साहिब की है, जहां दो गांवों के किसानों की करीब 80 एकड़ खड़ी फसल जलकर राख हो गई है,

चंडीगढ़ पंजाब में किसानों की कर्ज माफी के लिए सरकार ने एक कमेटी गठित की है, जो किसानों की कर्ज माफी की समीक्षा कर 60 दिन में सरकार के सामने रिपोर्ट पेश करेगी. वहीं, डॉक्टर टी हक को तीन सदस्यों की इस कमेटी का चेयरमैन बनाया गया है. इनके साथ प्रमोद कुमार जोशी, बलविंदर सिंह सिद्धू को भी कमेटी का सदस्य बनाया गया है. ये कमेटी कर्ज माफी पर सरकार को सुझाव देगी.

चंडीगढ़ पंजाब सरकार ने शनिवार को औपचारिक अधिसूचना जारी कर कुछ श्रेणी के वाहनों को छोड़कर सभी तरह के वाहनों पर लालबत्ती के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया है. राज्य सरकार ने कहा कि यह वीआईपी संस्कृति खत्म करने की दिशा में उठाया गया यह एक महत्वपूर्ण कदम है. अब लाल बत्ती का इस्तेमाल केवल कुछ ही श्रेणियों में उच्च गणमान्य व्यक्तियों द्वारा किया जा सकता है. जिसमें पंजाब के गवर्नर, मुख्य न्यायाधीश और पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट के न्यायाधीश शामिल हैं. पंजाब मंत्रिमंडल ने पिछले महीने पहली मंत्रीमंडलीय बैठक में वीआईपी संस्कृति खत्म करने का फैसला लिया था. बैठक में कुछ खास श्रेणियों को