पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्रीय मंत्री रामबिलास पासवान से मुलाकात की. सीएम कैप्टन ने इस मुलाकात के दौरान 31,000 करोड़ रुपए की अनाज खरीद ऋण माफी के मुद्दे पर चर्चा की. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस मामले में एक मांग पत्र भी केंद्रीय मंत्री को सौंपा और जल्द मामले के निपटारे की मांग की. Had a very fruitful meeting with @irvpaswan ji on various procurement related issues. Thankful for the help he has assured. pic.twitter.com/j1BrGrQLGq — Capt.Amarinder Singh (@capt_amarinder) August 22, 2017

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल का आज उत्तराखंड दौरा है। उत्तराखंड में सीएम मनोहर लाल जीबी पंत अग्रिकल्चर यूनिवर्सिटी के कार्यक्रम में शामिल होंगे। बताया जा रहा है कि सीएम इ दौरान नैनिताल भी जाएंगे।

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने चंडीगढ़ में एक बैठक बुलाई है. इस बैठक में राज्य के सभी जिलों के डिप्टी कमिश्नर्स शामिल होंगे. पंजाब की नई सरकार की इस बैठक में गुड गवर्नेंस और सरकारी योजनाओं पर चर्चा की जाएगी. बैठक में सीएम सभी अधिकारियों को सरकार के काम करने के तौर तरीकों के बारे में बताएंगे और योजनाओं पर कैसा काम किया जाए इसको लेकर दिशा निर्देश जारी करेंगे.

पंचकूला में सीएम मनोहर लाल ने इंद्रधनुष सभागार में 64 करोड़ की कुल प्रोजेक्ट्स की शुरुआत की। इनमें से पांच परियोजनाओं का सीएम ने उद्घाटन किया और चार परियोजनाओं की आधारशिला रखी। इसके अलावा सीएम ने मोटरबाइक एंबुलेंस को हरी झंडी दिखाई.

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सफीदों के विकास के लिए करोड़ों की परियोजनाओं की घोषणा की। मनोहर लाल महाराज जस्सा सिंह अहलूवालिया की तीन-सौवीं जयंती के मौके पर एक कार्यक्रम में पहुंचे थे। सीएम ने सफीदों ड्रेन और सफीदों डिच ड्रेन का उद्घाटन किया इसके साथ ही तीस रिहायशी भवनों का भी शिलान्यास किया ये भवन उपमंडल परिसर में बनने हैं। पंचकूला और भिवानी में सरदार जस्सा सिंह के नाम पर चौक का नाम होगा। वहीं सफीदों की आईटीआई नाम भी सरदार जस्सा सिंह के नाम पर होगा। ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की समस्या सुलझाने के लिए चार करोड़ पंद्रह लाख कि परियोजनाओं

गुवाहाटी ओडिशा के कालाहांडी जिले में पत्नी का शव कंधे पर लेकर 10 किलोमीटर तक चलने वाले दाना मांझी की तस्वीर ने पूरी दुनिया की नजरें अपनी ओर खींची थी. अब असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल के विधानसभा क्षेत्र मजुली में ऐसी ही घटना सामने आई है. असम के अखबारों में प्रकाशित तस्वीर में दिख रहा है कि एक शख्स अपने 18 वर्षीय भाई का शव साइकिल से ले जा रहा है. बताया जा रहा है कि गांव की सड़क इतनी खराब है कि कोई भी गाड़ी वाला उसके भाई के शव को ले जाने के लिए तैयार नहीं हुआ. आखिरकार