हिमाचल प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी कर दी है. सोमवार को कांग्रेस की ओर से जारी लिस्ट में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी, उपाध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व पीएम डॉ. मनमोहन सिंह, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह, राज्य के वर्तमान मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह समेत कई बड़े नेताओं के नाम शामिल किए गए हैं. पार्टी की ओर से जारी सूची में इन नेताओं के अलावा राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद, पूर्व केंद्रीय मंत्री आनंद शर्मा, सचिन पायलट, ज्योतिरादित्य सिंधिया, अंबिका सोनी, सुशील कुमार शिंदे के नाम शामिल किए गए हैं. इसके

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी पीएम पद के लिए उनसे बेहतर उम्मीदवार थे लेकिन तब उनके पास कोई और विकल्प नहीं था. पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि प्रणब दा को देश के सर्वोच्च पद के लिए नहीं चुने जाने के लिए शिकवा करने का पूरा हक है. पूर्व प्रधानमंत्री ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की किताब 'द कोलिशन इयर्स' (1996-2012) के विमोचन कार्यक्रम में ये बातें कहीं. इस मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी भी मौजूद थीं. प्रधानमंत्री बनने का जिक्र करते हुए मनमोहन सिंह ने कहा, 'कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मुझे प्रधानमंत्री

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को पार्टी अध्यक्ष बनाए जाने को लेकर लगाए जा रहे कयासों के बीच राजस्थान कांग्रेस के प्रमुख सचिन पायलट ने कहा है कि वह दिवाली के बाद पार्टी की कमान संभाल सकते हैं. पायलट ने कहा कि इसकी योजना काफी समय से चल रही है. सचिन पायलट ने कहा है कि पार्टी में आम भावना यही है कि राहुल गांधी कमान संभालें. एक सवाल पर पायलट ने कहा कि प्रियंका वाड्रा को खुद ही निर्णय लेना है कि उन्हें राजनीति में आना है या नहीं. वह कांग्रेस परिवार की सदस्य हैं और समय-समय पर जरूरत के हिसाब

गुरदासपुर लोकसभा उपचुनाव के लिए आम आदमी पार्टी के बाद कांग्रेस ने भी अपने उम्मीदवार का ऐलान कर दिया है। कांग्रेस ने प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ को मैदान में उतारा है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की सहमति के बाद बुधवार को जाखड़ के नाम का एलान कर दिया गया। जानकारी के मुताबिक गुरदासपुर के ज्यादातर विधायक जाखड़ के नाम पर सहमत थे। प्रताप बाजवा आपनी पत्नी चरनजीत तौर बाजवा के लिए टिकट मांग रहे थे, लेकिन जाखड़ खुद पहले तैयार नहीं थे। इससे यह आशंका बन गई थी कि अगर किसी एक स्थानीय को टिकट दिया जाता तो बाकी उसकी मुखालफत

अबोहर के हनुमानगढ़ रोड पर स्थित मॉल के बाहर दो गुट आपस में भिड़ गए। मामला पुरानी रंजिश का बताया जा रहा है। दरअसल, पैराडाइज मॉल के बाहर अकाली दल नेता विशु कंबोज अपनी दुकान पर बैठा था, जहां कुंडल गांव के कांग्रेसी सरपंच जगमनदीप सिंह, सुरेंद्र बंटी और गुरमीत से किसी बात को लेकर बहस हो गई। देखते ही देखते विवाद इतना बढ़ गया कि अकाली दल नेता ने फायरिंग शुरू कर दी, जिसमें दो कांग्रेसी कार्यकर्ताओं की गोली लगने से मौत हो गई, जबकि दोनों पक्षों के कई लोग घायल हो गए जिन्हें अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती किया गया

भोपाल: मध्यप्रदेश के 43 नगरीय निकाय चुनावों के परिणाम ने बीजेपी को झटका दिया है. बीजेपी ने 25 सीटों पर कब्ज़ा किया है मगर पार्टी को पिछली बार के मुकाबले दो सीटें कम मिली हैं. वहीं कांग्रेस ने 15 सीटों पर जीत हासिल की है, कांग्रेस के लिये ये जीत बड़ी है क्योंकि पिछली बार उसके पास सात सीटें थीं. कांग्रेस ने भी बीजेपी की कई सीटों पर सेंध लगाई हैं. छिंदवाड़ा और झाबुआ जिले में बीजेपी को करारी मात मिली है. सूबे की बड़ी नगर पंचायत पर कांग्रेस ने जीत के झंडे गाड़े हैं तो कई जगहों पर कांग्रेस की हार

अलग-अलग तरह के 500 रुपये के नोट छापे जाने के विपक्ष के आरोप को लेकर संसद में मंगलवार को ज़ोरदार हंगामा हुआ. कांग्रेस ने उच्च सदन राज्यसभा में 500 रुपये के दो नोटों की तस्वीर दिखाते हुए दावा किया कि उनका आकार और डिज़ाइन अलग-अलग है, और पार्टी ने इसे 'सदी का सबसे बड़ा घोटाला' करार दिया. कांग्रेस नेता गुलाम नबी आज़ाद ने कहा, "हमने भी शासन किया, लेकिन कभी भी दो तरह के नोट नहीं छापे, एक पार्टी के लिए, एक सरकार के लिए - दो तरह के 500 रुपये के नोट, और दो तरह के 2,000 रुपये के नोट

कांग्रेस के नवनियुक्त प्रदेश प्रभारी सुशील कुमार शिंदे तीन अगस्त को शिमला आएंगे। संगठन और सरकार के बीच की रार खत्म करने की चुनौतीपूर्ण जिम्मेदारी लेकर शिंदे शिमला कांग्रेस कार्यालय में मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, मंत्रियों, विधायकों और संगठन पदाधिकारियों के साथ बैठक कर सकते हैं। हिमाचल दौरे के प्रस्तावित कार्यक्रम के अनुसार शिंदे दो अगस्त को धर्मशाला पहुंचेंगे जिसके अगले दिन तीन अगस्त को राजधानी दौरे पर होंगे। पहले भी हिमाचल के प्रभारी रह चुके शिंदे प्रदेश में संगठन और भौगोलिक स्थिति से परिचित हैं। संगठन और सरकार के बीच की खींचतान को खत्म करने में श्ंिादे इसी तजुर्बे का इस्तेमाल करेंगे।

कांग्रेस ने वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुशील कुमार शिंदे को पार्टी महासचिव अंबिका सोनी की जगह शनिवार को हिमाचल प्रदेश का प्रभारी नियुक्त किया। पार्टी सांसद रंजीत रंजन को राज्य का सह प्रभारी नियुक्त किया गया है। पार्टी ने यह नियुक्ति तब की है, जब सोनी ने स्वास्थ्य कारणों से पार्टी हाईकमान से अनुरोध किया था कि उन्हें हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के महासचिव प्रभारी की जिम्मेदारी से मुक्त कर दिया जाए। कांग्रेस की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है, 'कांग्रेस अध्यक्ष ने हिमाचल प्रदेश में पार्टी के मामलों को देखने के लिए अंबिका सोनी और

कोटखाई मामले में बढ़ते तनाव को देखते हुए हिमाचल प्रदेश कांग्रेस ने अपनी पद यात्रा को एक दिन के लिए स्थगित कर दिया है। 21 जुलाई को कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय, सभी जिला मुख्यालय, ब्लॉक और पंचायत स्तर पर गुडिया की आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रखा जाएगा। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू ने इसकी जानकारी दी,  साथ ही उन्होने राजनीतिक दलों से अपील करते हुए कहा कि इस संवेदनशील मुद्दे पर राजनीति नहीं होनी चाहिए।