पेट्रोल और डीजल की बेलगाम कीमतों को केंद्रीय पर्यटन राज्यमंत्री केजे अल्फोंस ने सही ठहराया है. अल्फोंस ने कहा कि पेट्रोल और डीजल खरीदने वाले लोग भूख से नहीं मर रहे हैं. पेट्रोलियम उत्पादों से मिलने वाला पैसा गरीबों के कल्याण में खर्च किया जाएगा और सरकार ने यह फैसला सोच समझकर लिया है. उन्होंने कहा कि जो लोग पेट्रोल और डीजल खरीद रहे हैं उन्हें टैक्स देना ही होगा. पेट्रोल कौन खरीदता है? जिसके पास कार और बाइक है, वही पेट्रोल और डीजल खरीदता है और वह भूख से नहीं मर रहा. जो लोग इसे वहन कर सकते हैं उन्हें

देश में पेट्रोल की कीमत में जुलाई से लेकर अबतक 6 रुपये प्रति लीटर का इजाफा किया जा चुका है. बीते 60 दिनों के दौरान प्रतिदिन बढ़ती-घटती कीमतों के नए नियम से पेट्रोल की कीमत एक बार फिर 2014 के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है. वहीं डीजल की कीमतों पर लागू इस नए नियम के चलते इस दौरान धीरे-धीरे कर कीमतें 3.67 रुपये बढ़ चुकी है. डीजल की ये कीमतें बीते चार महीनों के दौरान शीर्ष स्तर पर हैं.15 जून तक सरकारी तेल कंपनियां महीने में दो बार पेट्रोल और डीजल की कीमतों का आंकलन करते हुए कीमतों में कटौती

आईओसी ने पेट्रोल और डीजल की कीमतें कम कर दी हैं। पेट्रोल 1.12 रुपए प्रति लीटर और डीजल 1.24 रुपए प्रति लीटर सस्ता हो गया है। नई कीमतें शुक्रवार सुबह 6 बजे से लागू होंगी. नई कीमत 16 जून से लागू होगी. देश भर में 58000 पेट्रोल पंपों पर शुक्रवार 16 जून से पेट्रोल और डीजल के दाम दैनिक आधार पर तय होंगे. इस नई व्यवस्था के तहत सुबह छह बजे से नई दरें लागू होंगी. इसके अनुसार अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल कीमतों में उतार चढ़ाव और विदेशी विनियम दर में उतार-चढ़ाव के आधार पर पेट्रोल और डीजल के दाम में दैनिक

भारत की तेल विपणन कंपनियां अब देशभर में रोजाना पेट्रोल की कीमतों की समीक्षा करेंगी. यह नई व्यवस्था 16 जून, 2017 से प्रभावी होगी. यह जानकारी पेट्रोलियम एवं नेचुरल गैस मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी ने दी है. देशभर में एक मई से पुडुचेरी, विशाखापट्नम, उदयपुर, जमशेदपुर और चंडीगढ़ में पेट्रोल-डीजल के लिए शुरू की गई दैनिक समीक्षा के पायलट प्रोजेक्ट में सफलता मिलने के बाद यह फैसला लिया गया है. भारत पैट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल), इंडियन ऑयल कॉर्प (आईओसी) और हिंदुस्तान पैट्रोलियम कॉर्प लिमिटेड (एचपीसीएल) की यह मांग थी कि रोजाना पेट्रोल-डीजल की कीमतें तय की जाएं. आपको बता दें कि इन

देश में बीते चार सप्ताह से पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में बढ़ोतरी के चलन से उलट आज पेट्रोल की कीमत में प्रति लीटर 2.16 रुपए और डीजल की कीमत में 2.10 रुपए की कमी की गई. बीते एक मई को पेट्रोल की कीमत में प्रति लीटर दो पैसे और डीजल की कीमत में प्रति लीटर 52 पैसे की बढ़ोतरी की गई थी. इससे पहले 16 अप्रैल को पेट्रोल की कीमत में प्रति लीटर 1.39 रुपए और डीजल की कीमत में प्रति लीटर 1.04 रुपए की बढ़ोतरी की गई थी. देश की सबसे बड़ी ईंधन विक्रेता कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्प ने कहा कि

आज से देश के पांच शहरों में पेट्रोल और डीजल के दाम रोजाना बदलेंगे। वैश्विक कच्चे तेल की कीमतों में उतार-चढ़ाव का सामना बेहतर तरीके से करने के लिए यह कदम उठाया गया है। ये शहर हैं-पुदुचेरी, विजाग, उदयपुर, जमशेदपुर और चंडीगढ़। इंडियन अॉयल कॉरपोरेशन, हिंदुस्तान पेट्रोलियम लिमिटेड और भारत पेट्रोलियम लिमिटेड के देश भर में करीब 95 प्रतिशत पेट्रोल पंप हैं। कंपनियां 5 शहरों में पहले इसे पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर शुरू करेंगी और फिर इसे देश के अन्य शहरों में भी लागू किया जाएगा। अब तक यह होता है: मौजूदा समय में हर 15 दिन में डीजल-पेट्रोल की कीमतों

दिल्ली पेट्रोल और डीजल के उपभोक्ताओं को आने वाले दिनों में राहत मिल सकती है. पेट्रोलियम मंत्रालय पेट्रोल व डीजल की होम डिलीवरी शुरू करने पर विचार कर रहा है. पेट्रोल पंपों पर बढ़ती भीड़ को कम करने के लिए मंत्रालय इस बारे में गंभीरता से विचार कर रहा है. मंत्रालय ने सोशल मीडिया ट्विटर पर यह जानकारी दी. इसके अनुसार पहले बुकिंग करवाने पर पेट्रोल व डीजल की होम डिलीवरी शुरू की जा सकती है. इसके अनुसार हर दिन 3.5 करोड़ लोग देश भर में 59,595 पेट्रोल पंपों पर पेट्रोल डीजल खरीदने जाते हैं. इस कारण जहां पेट्रोल पंपों पर भीड़

दिल्ली एक मई से अब रोजाना पेट्रोल-डीजल के दाम तय होंगे. शुरुआत में सरकार ने ये व्यवस्था पांच शहरों में लागू करने का फैसला किया है. इस फैसले के बाद अब कच्चे तेल की ताजा लागत के हिसाब से पेट्रोल-डीजल के दाम तय होंगे और दाम तय करने के लिए मौजूदा व्यवस्था के अनुसार 15 दिनों का इंतजार नहीं करना पड़ेगा. पेट्रोलिय मिनिस्ट्रर धर्मेंद्र प्रधान ने बताया कि ये पायलट प्रोजेक्ट पुद्चेरी, विशाखापटनम, उदयपुर, जमशेदपुर और चंडीगढ़ में शुरू होगा और इन शहरों में रोजाना पेट्रोल-डीजल के दाम तय होंगे. उन्होंने कहा कि अगर यह पायलट प्रोजेक्ट सफल रहता है तो इसे बाकी