आपने कभी सुना है कि अस्पताल में कोई मरीज आए और डॉक्टर इस बात को लेकर असमंजस में हों कि उसे बचाया जाये या मरने के लिये छोड़ दिया जाये. सुनने में यह अजीब लग सकता है कि लेकिन अमेरिका के फ्लोरिडा में ऐसा ही मामला सामने आया है. फ्लोरिडा के एक अस्पताल में डॉक्टर उस समय दुविधा में पड़ गए, जब उनके पास बेहोशी की हालत में एक मरीज आया जिसने अपनी छाती पर 'फिर से जिंदा मत होने देना' (डू नॉट रिससिटेट) का टैटू गुदवा रखा था. इससे डॉक्टरों में यह उलझन पैदा हो गई कि क्या यह संदेश