श्री फतेहगढ़ साहिब सीआईए पुलिस ने एक ऐसे गिरोह के चार सदस्यों को गिरफ्तार किया है, जो पुलिस का खौफ दिखाकर दुकानदारों से जबरन वसूली करते थे. आरोपी अभी तक 35 वारदातों को अंजाम देने की बात कबूल चुके हैं, आरोपियों के खिलाफ अलग-अलग थानों में नौ मामले दर्ज हैं. आरोपियों के पास से पुलिस की वर्दी बरामद हुई है, जिस पर एएसआई सतनाम सिंह की नेम प्लेट भी लगी है.  पुलिस ने चारों आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है

श्री फतेहगढ़ साहिब पुलिस ने एक ऐसे गिरोह के छह सदस्यों को गिरफ्तार किया है, जो पंजाब के अलग-अलग जिलों में चोरी की कई वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। इस बारे में जानकारी देते हुए एसपी दलजीत सिंह राणा ने बताया कि ये गिरोह फैक्ट्रियों, गोदामों और नई इमारतों को अपना निशाना बनाता था। रात के समय वहां के चौकीदारों को बंधक बनाकर चोरी की वारदातों को अंजाम देता था। पुलिस ने इस गिरोह के छह सदस्यों से करीब बीस लाख रुपए का चोरी का सामान भी बरामद किया है।

फतेहगढ़ साहिब पुलिस ने जिले में हुए दो ब्लाइंड मर्डर को सुलझाने का दावा किया है। एसएसपी अलका मीना ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दो मामलों को लेकर खुलासा किया। उन्होंने बताया कि एक मामले में अवैध संबंधों को लेकर महिला की हत्या की गई, जबकि दूसरे मामले में महज 700 रुपए के मोबाइल को लेकर हत्या की गई है। इसके अलावा एसएसपी ने हलका अमलोह में चूरापोस्त की खेप समेत तीन नशा तस्करों को भी गिरफ्तार करने का दावा किया है।