मोगा जिले के गांव तलवंडी भंगेरिया निवासी रकसीन तथा 3 अन्य लड़कियों ने जालंधर निवासी एक व्यक्ति पर उन्हें पंजाब पुलिस में बतौर सिपाही भर्ती करवाने का झांसा देकर 7 लाख 56 हजार रुपए ठगने का आरोप लगाया है। पुलिस ने जांच के बाद कथित आरोपी रंजीत सिंह पुत्र गुरदेव सिंह निवासी ईशर कालोनी जालंधर के खिलाफ थाना सिटी मोगा में धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया गया है। जिला पुलिस अधीक्षक को दिए शिकायत पत्र में रकसीन पुत्री सेवक मोहम्मद, प्रदीप कौर पुत्री बलदेव सिंह निवासी गांव तलवंडी भंगेरिया मोगा, जसप्रीत कौर पुत्री जरनैल सिंह निवासी जैतो (फरीदकोट), कमलजीत कौर

श्री मुक्तसर साहिब की सहकारी बैंक में फर्जी खाते खुलवाकर और बैंक प्रबंधकों से मिलीभगत कर करीब साढ़े सात लाख रुपए की ठगी करने के मामले में पुलिस ने मामला दर्ज किया है। हालांकि, अभी तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है। हरीके कलां गांव के रहने वाले जसविंदर सिंह ने पुलिस को शिकायत दी थी, जिसके आधार पर जांच करते हुए पुलिस ने मामला दर्ज किया है। जसविंदर सिंह ने बताया कि उनके गांव की ही हरीके कलां समाघ सहकारी सोसायटी के अध्यक्ष जसविंदर सिंह ने पूर्व सचिव गुरनाम सिंह, बैंक मैनेजर और कोषाध्यक्ष से मिलकर भाई भागो स्कीम के

विदेश भेजने के नाम पर ठगी का शिकार हुए व्यक्ति ने सीएम विंडो पर शिकायत दी है. पीड़ित ने मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर इच्छा मृत्यु की मांग की है. जानकारी के मुताबिक, यमुनानगर की न्यू हमीता कॉलोनी के रहने वाले संजीव कुमार से उसके बेटे को विदेश भेजने के नाम पर बीस लाख रुपए की ठगी की गई थी, लेकिन बार-बार शिकायत के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई. पीड़ित का आरोप है कि पड़ोस में कपड़े की दुकान चलाने वाले दंपत्ति ने उनसे ठगी की है.

मोहाली में सेक्टर-71 के बैंक में पैसे जमा करवाने एक युवक से ठगी का मामला सामने आया है. जानकारी के मुताबिक, निजी कंपनी में काम करने वाला युवक बैंक में 25 हजार रुपए जमा करवाने आया था. इसी दौरान दो युवक उसके पास आए और एटीएम से पैसा जमा करवाने का झांसा देकर पैसे ले लिए और वहां से फरार हो गए. फिलहाल पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और जांच शुरू कर दी है.

पुलिस ने होटलों में फेक चैक देकर अय्याशी करने वाले दो जालसाजों को गिरफ्तार किया है। ए.सी.पी. सैंट्रल सतिंदर कुमार चड्ढा ने बताया कि होटल रमाडा के मैनेजर सुनील ठाकुर के बयानों पर केस दर्ज किया गया है। सुनील ठाकुर ने शिकायत दी थी कि इन दोनों ने उनके होटल में काफी दिन तक स्टे किया अौर कई दिनों तक शराब पी अौर खाना भी खाया। वह कैश की बजाए चैक देते थे। जब चैक बैंक में लगाया तो वह फर्जी पाया गया। इस तरह इन्होंने रमाडा होटल के साथ करीब 1.50, होटल माया से 27 हजार रुपए, होटल लिली

दो हजार के नोट से ठगी का एक अनोखा मामला सामने आया है। ये ऐसा जाल बिछाते थे जिसमें महिलाएं जल्दी फंस जाती थी। मामला हरियाणा के रेवाड़ी का है, जहां नाईवाली चौक स्थित राव तुलाराम पार्क में ठगी की साजिश रचते दिल्ली निवासी युवक आकाश को गिरफ्तार किया है। जबकि उसका दूसरा साथी मौके से फरार हो गया। ठगी करने वाले शातिर नोटों की गड्डी में आगे और पीछे दो-दो हजार के नोट लगा देते थे और बीच में नोटनुमा कागज भर देते थे। इसके बाद उनका निशाना महिलाएं होती थीं जिसमें योजना के तहत महिलाओं को बैंक में पैसे

फतेहाबाद के बनमंदौरा गांव में मनरेगा के तहत करवाए गए कामों में गड़बड़ी का मामला सामने आया है। गांव के निवासी बृजलाल ने खंड विकास और पंचायत अधिकारी को शिकायत देकर सरपंच और कर्मचारियों पर मिलीभगत कर फर्जीवाड़ा करने के आरोप लगाए हैं। शिकायतकर्ता का कहना है कि अक्टूबर 2016 में मनरेगा के तहत जलघर की सफाई की गई थी, जिसके लिए मजदूरों का भुगतान मार्च 2017 में बैंक खातों के माध्यम से किया गया था, लेकिन बैंक खातों में जमा रकम मजदूरों की हाजरियों से मिलान नहीं करती। शिकायतकर्ता ने मामले में उपायुक्त,पंचायत मंत्री और राज्य सतर्कता ब्यूरो के अधिकारियों

फरीदकोट के मचाकी के रहने वाले लोगों को गांव के ही कुछ लोगों ने ठगी का शिकार बनाया है। बताया जा रहा है कि आरोपी ने नौकरी लगवाने के नाम पर ढाई लाख रुपए मांगे थे, जब नौकरी नहीं लगी तो पीड़ित ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई। पुलिस ने पीड़ित की शिकायत के बाद तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

सोशल मीडिया पर दोस्ती के बाद युवती की अश्लील फोटो वायरल करने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि, नाहन की रहने वाली एक युवती की एक युवक से दोस्ती हो गई। इसके बाद युवक और युवती का एक-दूसरे से मिलने भी लगे। युवक ने बहला-फुसलाकर युवती को नशे की लत लगा दी। युवती से अश्लील फोटो मांगी और फिर उन्हें सोशल मीडिया में वायरल करने के नाम पर ब्लैकमेल करने लगा। युवक के चंगुल में फंसने के बाद युवती 30 से 35 हजार रुपये विभिन्न किश्तों में उसे दे चुकी है लेकिन 12 जून को युवक

पालमपुर के पीएनबी बैंक में कारोबार के नाम बनाई गई लिमिट डकारने के आरोप में 4 लोगों के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज किया है। आरोपियों ने सॉफ्ट ड्रिंक के कारोबार के नाम पर पंजाब नेशनल बैंक पालमपुर में 3.50 करोड़ रुपये की लिमिट वर्ष 2014 में बनाई थी, इसका सारा पैसा डकारने के बाद आरोपियों ने लेन-देन बंद कर दिया। अपना पैसा न आता देख बैंक प्रबंधन ने पुलिस में मामला दर्ज करवा दिया है। बैंक से धोखाधड़ी के आरोपियों में 2 लोग पंजाब निवासी हैं। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक पीएनबी पालमपुर में 4 लोगों ने कारोबार के