हरियाणा के करनाल में एक और बड़ा रेल हादसा होने से टल गया है। यहां हिमालय क्वीन/ एकता एक्सप्रेस के ड्राईवर की लापरवाही की चलते कई यात्रियो को चोट आई है। दरअसल जिस वक्त ड्राइवर ट्रेन को लेकर आगे बढ़ रहा था उसने स्टेशन मास्टर के संदेश को नहीं सुना। बिना संदेश सुने ही उसने ट्रेन को आगे बढ़ा दिया, जिसके चलते ड्राइवर को अचानक से इमरजेंसी ब्रेक लगानी पड़ी। जिसके चलते कई यात्रियों को चोट आई है। हालांकि अंबाला-दिल्ली रेलमार्ग पर बड़ा हादसा होने से टल गया है, लेकिन ड्राइवर की लापरवाही के चलते लोगों को चोटें आई हैं।

घरौंडा में जिला पार्षद की गिरफ्तारी को लेकर पूंडरी गांव के ग्रामीणों का गुस्सा फूट पड़ा। इसके चलते ग्रामीणों ने पुलिस और थाने पर पथराव करते हुए हमला बोल दिया। पथराव में पुलिस स्टेशन और थाने में खड़े वाहनों को भारी नुकसान पहुंचा। पुलिस ने बचाव में हवाई फायरिंग की, जिसके बाद गुस्साए प्रदर्शनकारियों ने जीटी रोड जाम कर दिया। करीब तीन घंटे तक नेशनल हाइवे पर जाम लगने से हजारों वाहन फंस गए। गौरतलब है कि घरों के बाहर मीटर लागने आई बिजली निगम की टीम से पूंडरी गांव के लोगों ने मारपीट की थी। इस मामले में शुक्रवार को

घरौंडा की वाल्मीकि बस्ती में दो गुटों में किसी बात को लेकर हुई मामूली कहासुनी खूनी संघर्ष में बदल गई। इस दौरान एक गुट ने दूसरे गुट पर लाठी-डंडों और तेजधार हथियार से हमला किया। इसमें एक गुट के चार लोग बुरी तरह से जख्मी हो गए। इनको उपचार के लिए स्थानीय सीएचसी में भर्ती करवाया गया। घायलों में तीन लोगों की हालत गंभीर बनी हुए जिसके बाद उन्हें करनाल के कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में रेफर कर दिया गया। मामले की सूचना मिलते ही भारी पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। पूरी बस्ती में तनाव की स्थिति बनी हुई है।