हरियाणा के भाजपा विधायकों और सरकार के कामकाज का मूल्यांकन शुरू हो गया है। भाजपा हाईकमान राज्य में एक ऐसा सर्वे करा रहा, जिसके जरिए न केवल विधायकों की छवि का पता चल सकेगा, बल्कि सरकार की जनता में लोकप्रियता का पैमाना भी तय होगा। इस सर्वे के आधार पर पार्टी भविष्य में कड़े निर्णय ले सकती है। कई विधायकों के टिकट कट सकते हैैं तो कुछ विधायकों पर पार्टी फिर से दांव खेल सकती है। भाजपा हाईकमान द्वारा कराया जा रहा सर्वे हिंदी में है। सांसदों की कार्य प्रणाली का फीडबैक पार्टी पहले ही ले चुकी है, जिसमें चार सांसदों

हरियाणा बीजेपी ने 5 सितंबर को कोर ग्रुप की बैठक बुलाई है. इस बैठक में सीएम मनोहर लाल, प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला समेत तमाम कैबिनेट मंत्री और कोर ग्रुप के मेंबर्स मौजूद रहेंगे. बैठक में गुरुग्राम निगम चुनाव, डेरा विवाद के बाद के हालात समेत कई अहम मुद्दों पर चर्चा की जाएगी. पहले ये बैठक 24 अगस्त को होनी थी लेकिन डेरा प्रमुख पर फैसला आने की वजह से ये बैठक स्थगित कर दी गई थी.

चंडीगढ़ हाइप्रोफाइल छेड़छाड़ मामले के साइड इफेक्ट्स भी सामने आने लगे हैं। दरअसल, गुरुग्राम में केंद्रीय मंत्री नितन गडकरी के एक प्रोग्राम के लिए बीजेपी ने शहर में पोस्टर लगाए हैं, लेकिन इन पोस्टर्स से हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला की तस्वीर गायब है। पोस्टर्स में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के अलावा हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल और कैबिनेट मंत्री राव नरबीर की तस्वीरें लगाई गई हैं। आपको बता दें कि चंडीगढ़ हाईप्रोफाइल छेड़छाड़ मामले में हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला आरोपी है। इस मामले के बाद पार्टी की काफी किरकिरी भी हुई है।    

छेड़छाड़ मामले में फंसे विकास बराला के साथी आशीष के परिजन भिवानी में मीडिया के सामने आए हैं। आशीष के परिजनों ने अपने बेटे को बेकसूर बताया है और कहा कि राजनीति के चलते उनके बेटे को फंसाया जा रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि इस मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए ताकि सच्चाई सामने आ सके।

चंडीगढ़ हाईप्रोफाइल छेड़छाड़ मामले के आरोपी विकास बराला और उसके दोस्त आशीष को आज कोर्ट में पेश किया जाएगा। छेड़छाड़ मामले के बाद आखिरकार बुधवार को दोनों को गिरफ्तार किया गया। चंडीगढ़ पुलिस ने विकास और आशीष को अपहरण की कोशिश के आरोप में गिरफ्तार किया है। पुलिस ने एफआईआर में गैरजमानती धाराएं भी जोड़ी हैं।

हरियाणा बीजेपी की जींद में दो दिवसीय कार्यसमिति की बैठक शुरु हो गई है। बैठक में सीएम मनोहर लाल भी शामिल हुए हैं। इस दौरान पार्टी संगठन और सरकार के बीच और बेहतर सामंजस्य कैसे बनाया जाए, इसको लेकर विस्तार से मंत्रियों और संगठन पदाधिकारियों के बीच चर्चा होगी। संगठन पदाधिकारियों के सामने पिछले दिनों उनके मंत्रालय की ओर से लिए फैसलों को लेकर बातचीत होगी। इसके साथ बीजेपी राष्ट्रिय अध्यक्ष अमित शाह के दौरे को लेकर भी चर्चा होगी। प्रदेश सरकार की एक हजार दिन के कार्यकाल में लिए गए जनकल्याणकारी फैसलों का जनता में कैसे प्रचार-प्रसार किया जाए। इस पर

फरीदाबाद के सूरजकुंड पर्यटन स्थल पर भाजपा कोर कमेटी की बैठक हुई। बैठक में सीएम मनोहर लाल, केंद्रीय राज्य मंत्री राव इंद्रजीत समेत कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहे। इसमें सरकार की नीतियों को प्रभावी ढंग से लागू करने, संगठन को मजबूती देने और प्रदेश के कमजोर सात जिलों में पार्टी की गतिविधियां बढ़ाने के अलावा पं. दीनदयाल उपाध्याय जयंती समारोह के मंडल स्तर तक आयोजित करने पर गहन चर्चा की गई। बैठक में सरकार के ढाई साल के कार्यकाल का रिपोर्ट कार्ड पेश किया गया और सरकार द्वारा जनहित में लागू की गई नीतियों को प्रभावी ढंग से लागू करवाने

भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी की 2 दिवसीय बैठक आज से आयोजित होने जा रही है। इसकी तैयारियां पूरी कर ली गई है। तीन साल बाद करनाल में हो रही बैठक में प्रदेश के सभी विधायक, मंत्री और उच्च पदाधिकारी शिरकत करेंगे। साथ ही केंद्र सरकार से भी कई वरिष्ठ भाजपा नेता बैठक में शिरकत करेंगे। इस दौरान भजापा के असंतुष्ट विधायकों को लेकर आ रही खबरों को लेकर भी दो दिवसीय बैठक में मंथन होगा।

सीएम मनोहर लाल आज दिल्ली में बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं के साथ मुलाकात करेंगे। सीएम शाम चार बजे तक दिल्ली स्थित हरियाणा भवन पहुंचेंगे। इस मुलाकात के दौरान कई मुद्दों पर चर्चा हो सकती है। कल सीएम उड़ीसा रवाना होंगे जहां वो बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में हिस्सा लेंगे।