हिमाचल हाईकोर्ट ने दिवाली पर रात दस बजे के बाद पटाखे चलाने पर रोक लगा दी है. जनहित में आदेश जारी करते हुए कोर्ट ने अस्पतालों के 100 मीटर के दायरे में आतिशबाजी पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया है. प्रदेश सरकार को आदेशों का अनुपालना सुनिश्चित करवाने की जिम्मेवारी सौंपी गई है. न्यायाधीश धर्म चंद चौधरी और न्यायाधीश विवेक सिंह ठाकुर की खंडपीठ ने प्रदेश सरकार को आदेश दिए हैं कि वह दिवाली पर पटाखे चलाने की सूरत में आम नागरिकों के जान व माल की उचित सुरक्षा पर ध्यान दे. कोर्ट ने उम्मीद जताई है कि त्योहार को सभी लोग संयमित होकर

हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट ने कांगड़ा केंद्रीय सहकारी बैंक में विभिन्न श्रेणियों के 216 पदों के लिए होने वाली भर्ती से जुड़े मामले में अपने स्थगन आदेशों से रोक हटा दी है। कोर्ट ने अपने पिछले आदेशों में संशोधन करते हुए बैंक को यह छूट दे दी है कि वह इन पदों पर होने वाली नियुक्ति को अंतिम रूप दे सकता है। कोर्ट ने स्पष्ट किया कि सफल उम्मीदवारों की नियुक्ति याचिकाओं पर होने वाले अंतिम निर्णय पर ही निर्भर करेगी। मामले पर सुनवाई 16 नवंबर को होगी। इस मामले में हाइकोर्ट ने यह अंतरिम आदेश पारित कर रखे थे कि भर्ती प्रक्रिया

केसीसी बैंक में भर्ती के लिए होने वाली लिखित परीक्षा से जुड़े मामले में हाईकोर्ट ने आदेश दिए हैं कि हालांकि प्रक्रिया जारी रहेगी लेकिन, भर्ती के बारे में अंतिम रूप केवल न्यायालय की ही इजाजत से किया जाएगा. कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश संजय करोल व न्यायाधीश अजय मोहन गोयल की खंडपीठ ने रणजीत सिंह राणा द्वारा दायर याचिका की सुनवाई के दौरान केसीसी बैंक को आदेश दिए कि वह एनपीए की सूची 10 अगस्त तक न्यायालय के समक्ष दायर करे. याचिका में आरोप लगाया गया है 8 और 9 जुलाई को होने वाली केसीसी बैंक की भर्ती परीक्षा का आयोजन भारतीय रिजर्व