हरियाणा शिक्षा बोर्ड के कर्मचारियों और अधिकारियों की सेवानिवृत्ति अब 58 की जगह 55 की उम्र में की जाएगी। बोर्ड निदेशक मंडल के फैसले के मुताबिक बोर्ड के सेवानिवृत्त अधिकारियों व कर्मचारियों पर प्रदेश सरकार द्वारा संशोधित पेंशन व पारिवारिक पेंशन, निर्देश, पदोन्नति, पुनर्नियुक्ति संबंधी नियम ही लागू होंगे। इस फैसले से कर्मचारियों में काफी आक्रोश है। अभी तक बोर्ड अधिकारियों व कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति 58 साल बाद हो रही थी, लेकिन नए फैसले के तहत बोर्ड कर्मचारियों व अधिकारियों को 55 साल पूरे होने के बाद सेवा अवधि बढ़ाने की अनुमति हरियाणा सरकार से लेनी होगी। सेवा अवधि बढ़ाने या

हरियाणा स्कूल शिक्षा बोर्ड की 10वीं की परीक्षाओं में टॉपर्स लिस्ट में हुई गड़बड़ी के मामले में जिन कर्मचारियों को बोर्ड ने हटाना का फैसला लिया था, अब वो वापस ले लिया गया है। दरअसल, जांच में पता चला है कि टॉपर्स की लिस्ट में हुई गड़बड़ी बोर्ड की नहीं बल्कि रिजल्ट तैयार करने वाली फर्म की ओर से की गई थी। अब जब ये साफ हो गया है कि गलती किसकी है तो बोर्ड ने दोनों कर्मचारियों का निलंबन वापस ले लिया है। साथ ही रिजल्ट तैयार करने वाली फर्म पर जुर्माना लगाया गया है।