हिसार से इनेलो सांसद दुष्यंत चौटाला ने सिरसा में प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि टोल नाके हटाने के लिए सरकार को एक दिसंबर का समय दिया है। अगर सरकार ने ऐसा नहीं किया तो इनेलो दो दिसंबर से टोल हटाओ आंदोलन छेड़ेगी। जिसकी शुरुआत हिसार जिले के मय्यड से की जाएगी। उन्होंने कहा कि राज्य की बीजेपी सरकार टोल नाकों के जरिए लोगों को लूटने का काम कर रही है। राज्य में टोल नाके नियम कायदों को ताक पर रखकर लगाए गए हैं।  

पटियाला, अंबाला और करनाल में आंदोलन को लेकर पुलिस प्रशासन पूरी तरह से सतर्क नजर आ रहा है। जगह-जगह पुलिस बल तैनात किया गया है। लोगों को किसी तरह की परेशानी न हो और ट्रैफिक सुचारू रूप से चलता रहे, इसके लिए कई जगह रूट डायवर्ट कर दिए गए है। पुलिस बल की तरफ से पैट्रोलिंग की जा रही है। खुद आला अधिकारियों ने  मौके पर जाकर इंतजामों का जायजा लिया। वहीं पंजाब सरकार ने भी एहतियात के तौर पर दस जुलाई को प्रदेश की अंतरराज्यीय बसों को हरियाणा में नहीं भेजने का फैसला किया है।

SYL के मुद्दे पर दस जुलाई को पंजाब के वाहनों को हरियाणा में न घुसने देने पर अड़े इनेलो से निपटने के लिए हरियाणा व पंजाब ने साझा रणनीति बनाई है। दोनों राज्यों के गृह सचिवों और पुलिस महानिदेशकों की संयुक्त बैठक में प्रदर्शन के दौरान आमजन को दिक्कतों से बचाने और काूनन व्यवस्था को बनाए रखने के लिए कई अहम निर्णय लिए गए। इस बीच, हरियाणा सरकार ने आंदोलन से निपटने के लिए केंद्र सरकार से केंद्रीय बलों की दस टुकड़ियां मांगी हैं। हालांकि अभी इनेलो ने यह साफ नहीं किया है कि वह अंबाला में वाहनों को रोकेंगे या

भिवानी इनेलो ने एक बार फिर एसवाईएल के मुद्दे पर सरकार को घेरने की कोशिश की है. इनेलो ने इस मुद्दे का कोई हल निकालने के लिए केन्द्र सरकार को 9 जुलाई तक का अल्टीमेटम दिया है. इनेलो नेता अभय चौटाला ने कहा कि अगर 9 जुलाई तक हरियाणा को अपने हक का पानी नहीं मिलता तो 10 जुलाई को अंबाला में दिल्ली जाने वाले पंजाब के वाहनों को एक दिन के लिए सांकेतिक तौर पर रोका जाएगा. वहीं, अभय चौटाला ने पूर्व सीएम भूपेन्द्र हुड्डा को भी निशाने पर लिया. उन्होंने कहा कि हुड्डा किसानों के लिए नहीं बल्कि अपना कद बढ़ाने

इनेलो नेता अभय चौटाला ने कहा है कि, राष्ट्रपति चुनाव में समर्थन देने का अंतिम फैसला पार्टी सुप्रीमो ओम प्रकाश चौटाला करेंगे। दरअसल,  मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि भाजपा ने राष्ट्रपति चुनाव को लेकर इनेलो से समर्थन मांगा था, जिसपर इनेलो नेताओं ने इस पर दो दिन में विचार कर फैसला लेने का आश्वासन दिया था और अब अभय चौटाला का ये बयान सामने आया है।

आईएनएलडी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा ने पूर्व विधायक दिलबाग सिंह के भाई पर हमले को लेकर एसपी यमुनानगर से मुलाकात। इस दौरान उन्होंने कहा कि अगर अगले सात दिन में आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई तो बड़ा कदम उठाया जाएगा। उधर, व्यापारिों ने आरोपियों की गिरफ्तारी न होने पर  बंद की चेतावनी दी है। अशोक अरोड़ा ने मामले में पुलिस पर दबाव में काम करने का आरोप भी लगाया।

गुरुग्राम में अभय चौटाला ने एसवाईएल के मुद्दे पर कहा कि नहर बनाने के लिए केंद्र सरकार को 9 जुलाई तक का समय दिया है। अगर केंद्र सरकार नहर का निर्माण नहीं कराती है तो इनेलो 10 जुलाई को हरियाणा- पंजाब की सीमा पर आने वाले सभी वाहनों को रोकने का काम करेंगे।  

इनेलो के पूर्व विधायक दिलबाग सिंह के भाई पर हमले की प्लानिंग जेल में बंद काला राणा ने बनाई थी तो गोली मारने के लिए पंजाब और चंडीगढ़ के मोस्ट वांटेड को भेजा था। शार्प शूटर्स ने घटना को अंजाम देने से पहले काला राणा के नाबालिग भाई के साथ उनके ऑफिस की रैकी की थी, और उसी ने राजिंद्र की शिनाख्त कराई थी। ये खुलासा काला राणा के नाबालिग भाई ने पुलिस पूछताछ में किया है। पुलिस के दबाव में आरोपी के रिश्तेदार खुद ही नाबालिग को पुलिस के पास लेकर पहुंचे। पुलिस ने बताया कि आरोपी को जुवेनाइल कोर्ट

इनेलो नेता अभय चौटाला ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए।  उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदेश में अपराधियों को राजनीतिक संरक्षण मिला हुआ है और पुलिस भी अपराधियों का खुलकर साथ दे रही है। अभय चौटाला यमुनानगर में पार्टी के पूर्व विधायक दिलबाग सिंह के भाई पर जानलेवा हमले के बाद उनका हालचाल जानने पहुंचे थे। इस दौरान अभय चौटाला ने एसपी को जल्द से जल्द अपराधियों को गिरफ्तार करने का अल्टीमेटम दिया और कहा कि वे बगड़ती कानून व्यवस्था के मुद्दे को लेकर राज्यपाल से मिलेंगे और राज्य में राष्ट्रपति शासन लान की मांग करेंगे।