इंटरनेशनल डेस्क. इस्लामिक स्टेट के सरगना अबू बकर अल-बगदादी का नया ऑडियो टेप जारी हुआ है। अमेरिका का खुफिया विभाग इसकी सत्यता जांचने की कोशिश कर रहा है। अभी तक माना जा रहा था कि अमेरिका के हवाई हमले में बगदादी की मौत हो चुकी है। वहीं, नए ऑडियो टेप के सामने आने के बाद एक बार फिर बगदादी की मौत पर सवाल खड़ा हो गया है। इससे पहले आतंकी संगठन IS के चीफ ने नवंबर 2016 में अपना ऑडियो जारी किया था। - अमेरिका के खुफिया विभाग का कहना है कि ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि यह ऑडियो असली

काबुल अफगानिस्तान में आतंकियों ने 35 लोगों को किडनैप कर लिया है। ये घटना जावजान प्रांत की है और इसके पीछे इस्लामिक स्टेट (आईएस) और तालिबान समर्थित आतंकवादियों ने हाथ होने की बात सामने आ रही है। अफगान नेशनल आर्मी ने इस घटना की पुष्टि की। - लोकल मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, आईएसआईएस और तालिबान दोनों ने प्रांत के कुश टीपा और दरजाब जिलों के बीच रास्ते पर चौकियों का कंस्ट्रक्शन किया है। - ये दोनों की एक-दूसरे के विरोधी संगठन हैं और इनकी लड़ाई में देश के आम लोग भी बुरी तरह शिकार बन रहे हैं। - दोनों आतंकवादी संगठन एक-दूसरे पक्षों के

सीरिया रूस की सेना ने दुनिया के खतरनाक आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आइएसआइएस) के शीर्ष कमांडर्स पर 'फादर ऑफ ऑल बॉम्ब' से हमला किया है. रिपोर्ट में दावा किया गया है कि व्लादिमिर पुतिन की सेना ने सीरिया के पूर्वी शहर देर अल-ज़ोर में इस्लामिक स्टेट के नेताओं के ऊपर सबसे बड़ा गैर-परमाणु बम गिराया है. इससे पहले रूस ने 8 सितंबर को सीरिया में इस्लामिक स्टेट के चार शीर्ष कमांडर को मारने का दावा किया था. रूस के रक्षा मंत्रालय ने बताया था कि उनके सैनिकों ने सीरिया के पूर्वी शहर देर अल-ज़ोर के बाहर एक हवाई हमले में आतंकवादी संगठन

दुनिया के सबसे खूंखार आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (ISIS) की ऑस्ट्रेलियाई यात्री विमान को उड़ाने की बड़ी साजिश को पुलिस ने नाकाम कर दिया गया है. आईएस आतंकी खालिद खयात और महमूद खयात गत महीने सिडनी से रवाना होने वाले 'एतिहाद एयरवेज' के विमान पर देश का अब तक का सबसे बड़ा आतंकी हमला करने की साजिश रच रहे थे. ये ऑस्ट्रेलिया में आतंकवाद के आरोपों का सामना कर रहे हैं. इसके अलावा ये आतंकी रासायनिक हमले की भी फिराक में थे. शुक्रवार को पुलिस ने बताया कि सिडनी के उपनगरों में छापे मारे गए और चार लोगों को गिरफ्तार किया

बगदाद कनाडा की स्पेशल फोर्स के एक स्नाइपर ने साढ़े तीन किलोमीटर (11,319 फीट) की दूरी से सटीक निशाना लगाकर विश्व रिकॉर्ड बना दिया है. वैश्विक इतिहास में अभी तक किसी ने भी ढाई किलोमीटर से ज्यादा दूरी का सटीक निशाना नहीं लगाया है. रिपो‌र्ट्स के अनुसार, इराक में तैनात कनाडा की ज्वाइंट टास्क फोर्स 2 के एक स्नाइपर ने पिछले महीने इराक में एक ऊंची इमारत से मैकमिलन टीएसी-50 राइफल का इस्तेमाल करते हुए इस्लामिक स्टेट के एक आतंकी को मार गिराया. वह आईएस आतंकी इराकी सेना पर हमला कर रहा था. 3,450 मीटर की दूरी तय कर निशाना भेदने में

बगदाद आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (IS) ने मोसुल की प्रसिद्ध झुकी हुई मीनार और उससे जुड़ी नूरी मस्जिद को बुधवार को विस्फोट कर उड़ा दिया. यह वही मस्जिद है, जहां IS के नेता अबू बकर अल बगदादी ने साल 2014 में पहली बार लोगों के सामने आकर खुद को खलीफा बताया था. IS ने अपनी अमाक प्रोपेगेंडा एजेंसी के जरिए बयान जारी कर आरोप लगाया कि अमेरिकी स्ट्राइक से मस्जिद जमींदोज हो गई है. वहीं, अमेरिकी नेतृत्व वाली गठबंधन सेना ने इस विध्वंस की निंदा करते हुए इसे मोसुल और सभी इराक के लोगों के खिलाफ अपराध करार दिया. स्टाफ लेफ्टिनेंट जनरल अब्दुलमीर

वॉशिंगटन अमेरिकी खुफिया एजेंसी फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (एफबीआई) की पूरी दुनिया में भारी किरकिरी हो रही है, क्योंकि उसके एक टॉप-सीक्रेट जासूस ने आतंकवादी संगठन आईएसआईएस के उस आतंकी से शादी कर ली, जिसकी जांच के लिए एजेंसी ने उसे तैनात किया था. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एफबीआई की बागी हो चुकी जासूस डेनिएला ग्रीन 2014 में टॉप-सीक्रेट क्लियरेंस के बाद सीरिया गयी थी. उसका काम आतंकी डेनिस कसपर्ट उर्फ अबु ताल्हा अल-अलमानी की जांच करना था. डेनिस कसपर्ट जर्मनी का नागरिक है और आतंकी बनने से पहले वो एक रैपर था. अमेरिकी समाचार संस्था सीएनएन के अनुसार कसपर्ट इंटरनेट पर

फ्रांस की राजधानी पेरिस में एक हथियारबंद शख्स ने पुलिस बस पर हमला किया. हमले में एक पुलिसकर्मी की मौत की खबर है जबकि दो अन्य गंभीर रूप से घायल हुए हैं. हालांकि, स्काई न्यूज के मुताबिक एक और घायल पुलिसकर्मी ने अस्पताल में दम तोड़ दिया है. फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसुआँ ओलांद के मुताबिक उन्हें यकीन है कि ये एक आतंकी हमला था. हमला पेरिस के शाँ एलीजे इलाके में शहर की एक मुख्य सड़क पर हुआ. शाँ एलीजे पेरिस की मशहूर जगहों में से एक है और यहां हर वक्त विदेशी सैलानियों का जमावड़ा रहता है. फ्रांसीसी मीडिया

यूपी एटीएस ने 5 राज्यों की पुलिस के साथ मिलकर आतंक के खिलाफ एक बड़े ऑपरेशन को अंजाम देते हुए 5 संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया है. इनको मुंबई, लुधियाना और बिजनौर से पकड़ा गया है. इसके साथ ही 6 संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. खुरासान मॉड्यूल के ये आतंकी किसी बड़ी साजिश को अंजाम देने के फिराक में थे. बेल्जियम से मॉड्यूल का संचालन इस मॉड्यूल को शमिंदर सिंह उर्फ शेरी नियंत्रित करता है, जो अभी जर्मनी से इसका संचालन कर रहा है. ऐसा माना जाता है कि वह बेल्जियम में रह रहे जगदीश सिंह भूरा

काबुल अमेरिका के पूर्वी अफगानिस्तान के नंगरहार में किए सबसे बड़े गैर-परमाणु बम हमले में मारे गए इस्लामिक स्टेट के आतंकियों की संख्या 94 हो गई है. नंगरहार प्रांत के प्रवक्ता अताउल्ला खोगयानी ने बताया कि अमेरिकी हमले में मरने वाले आईएस के सदस्यों की संख्या 36 से बढ़ कर 94 हो गई. अचिन जिले में बम के हमले वाली जगह का जायजा लेने के बीच रक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी ने कल कहा था कि मृतकों का आकंडा बढ़ सकता है. खोगयानी ने बताया, ‘खुशकिस्मती से कोई आम नागरिक हमले में नहीं मारा नहीं गया.’ गौरतलब है कि गुरुवार को आईएस आतंकियों