बॉलीवुड एक्टर शाहरुख खान कोलकाता फिल्म फेस्टिवल में बतौर चीफ गेस्ट बनकर पहुंचे थे। वापसी में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी खुद उन्हें एयरपोर्ट तक ड्रॉप करने आईं। इस दौरान सेंट्रो की पिछली सीट पर बैठे शाहरुख ने उनके पैर छू कर आशीर्वाद लिया। बादशाह खान के इस विनम्र अंदाज को देखकर उनके फैंस गदगद हो गए हैं। इस पूरे वाकये का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। दरअसल, शुक्रवार को ही कोलकाता में सीएम ममता बनर्जी समेत बॉलीवुड महानायक अमिताभ बच्‍चन, शाहरुख खान, महेश भट्ट, कमल हासन और काजोल की मौजूदगी में 23वें कोलकाता

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को मोबाइल फोन नंबर को आधार कार्ड से लिंक करने के विरोध में दायर याचिका पर सुप्रीम कोर्ट से फटकार लगी है. कोर्ट ने ममता सरकार से कहा कि वह संसद से पास कानून के खिलाफ कैसे जा सकती हैं, राज्य सरकार कैसे कानून के खिलाफ जा सकती है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि ममता बनर्जी निजी तौर पर कोर्ट में आ सकती हैं. कोर्ट ने ममता सरकार से कहा है कि अगर ऐसा होता है तो राज्य के बनाए कानून पर केंद्र भी चुनौती देगा. सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार से अपनी याचिका

कोलकाता कलकत्ता हाइकोर्ट की ओर से दुर्गा प्रतिमा विसर्जनपर रोक हटाए जाने के बाद भी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पीछे हटने को तैयार नहीं दिखतीं. उन्होंने विसर्जन पर अड़ंगा डालने के लिए नया फरमान जारी कर दिया है. इस नए फरमान के मुताबिक अब दुर्गा पूजा आयोजकों को विसर्जन के लिए पुलिस की मंजूरी लेनी होगी और पुलिस अगर सुरक्षा इंतजामों को लेकर संतुष्ट हुई तभी वे विसर्जन कर पाएंगे. इससे पहले गुरुवार को हाईकोर्ट के आदेश के बाद ममता ने तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा था कि जरूरत पड़े तो मेरा गला काट दो, लेकिन कोई भी मुझे ये नहीं बता सकता

पश्चिम बंगाल में मूर्ति विसर्जन के मुद्दे पर कलकत्ता हाईकोर्ट से बंगाल की ममता सरकार को झटका लगा है. HC ने मूर्ति विसर्जन पर राज्य सरकार का फैसला पलट दिया है. कोर्ट ने मुहर्रम के दिन मूर्ति विसर्जन से रोक को हटा दिया है. कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि पहले की तरह रात 12 बजे तक विसर्जन किया जा सकता है. पुलिस को इसके लिए व्यवस्था करनी होगी. हाईकोर्ट ने पुलिस से कहा है कि वह दोनों कार्यक्रमों के लिए अलग-अलग रूट तैयार करें. इससे पहले गुरुवार को सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने कहा था कि प्रतिबंध लगाना सबसे

दार्जिलिंग राज्य मंत्रिमंडल की बैठक स्थल पर जाने की कोशिश कर रहे गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) के समर्थकों की गुरुवार को पुलिस से झड़प हुई. पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिये लाठी चार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े. पुलिस सूत्रों ने कहा कि जीजेएम समर्थकों ने पुलिस द्वारा लगाये गये बैरीकेडों को तोड़ने की कोशिश की और पथराव किया. उन्होंने पुलिस की कुछ गाड़ियों को नुकसान भी पहुंचाया. इस दौरान कुछ पुलिसकर्मियों को चोट भी आई. प्रदर्शनकारी ‘‘स्कूलों में बंगाली भाषा को थोपे जाने’’ समेत कई मुद्दों को लेकर विरोध कर रहे थे. गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के नेता विमल

कोलकाता पश्चिम बंगाल में हुए सात नगर निकाय चुनावों में तृणमूल कांग्रेस (TMC) ने चार पर जीत हासिल की है. पिछले तीन दशकों में यहां पहाड़ी इलाके मिरिक में जीत दर्ज करनेवाली वह पहली गैरपहाड़ी (मुख्यधारा की) पार्टी है. TMC ने राज्य के साउथ 24 परगना के पुजाली, नॉर्थ दिनाजपुर के रायगंज, मुर्शिदाबाद के डोमकल और दार्जिलिंग की मिरिक सीट पर विरोधियों का सफाया कर दिया. पुजाली के 16 वॉर्डों में से 12 पर TMC ने जीत दर्ज की, जबकि बीजेपी सिर्फ दो वॉर्डों पर जीती. डोमकल के 21 वॉर्डों में TMC को 20 पर सफलता मिली. शुरुआती रुझान में लेफ्ट गठबंधन को

दिल्ली उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में भारतीय जनता युवा मोर्चा के नेता ने एक विवादित बयान दिया है. न्यूज एजेंसी के मुताबिक, योगेश वार्ष्णेय नाम के नेता ने ऐलान किया है कि जो भी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री का सिर काटकर लाएगा उसे 11 लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा. बता दें कि, हनुमान जयंती के मौके पर पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले में लोगों की भीड़ ने 'जय श्री राम' के नारे लगाए. भीड़ को तितर-बितर करने के लिए प्रशासन ने लाठीचार्ज के आदेश दिए थे. इसी के बाद यह विवादित बयान सामने आया. योगेश वार्ष्णेय ने कहा कि ममता बनर्जी का