नई दिल्लीः नोटबंदी के एक साल पूरे होने से ठीक एक दिन पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि नोटबंदी एक अभूतपूर्व घटना थी, अर्थव्यवस्था के भविष्य को बदलना अनिवार्य था। उन्होंने कहा नोटबंदी से पहले कैश का अत्यधिक इस्तेमाल हो रहा था। उन्होंने कहा सरकार द्वारा किए गए बदलावों के बाद अर्थव्यवस्था में टेक्नोलॉजी का महत्व बढ़ गया है। एक प्रेस कॉफ्रेंस को संबोधित करते हुए उन्होंने बताया कि नोटबंदी के बाद टेरर फंडिग की रोकथाम हुई है, टैक्स के दायरे में ज्यादा लोग आए हैं। नोटबंदी के बाद करेंसी तेज़ी से लोगों तक पहुंचाई गई। कांग्रेस पर बोला

दिल्ली कालेधन पर लगाम और डिजिटल ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने के लिए 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों का चलन बंद करने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कदम से देश की अर्थव्यवस्था को करीब 5 लाख करोड़ का लाभ हुआ है. सरकार की एक उच्च स्तरीय आंतरिक आंकलन रिपोर्ट में यह बात कही गई है. इस रिपोर्ट में बताया गया है कि पिछले साल 8 नवंबर को प्रधानमंत्री के अचानक लिए इस फैसले के वक्त हमारी अर्थव्यवस्था में करीब 17.77 लाख करोड़ रुपये मूल्य के नोट चलन में थे. वहीं मई, 2017 आते-आते उपयोग किए जा रहे बैंक नोटों का मूल्य