पाकिस्तान अक्सर भारत के खिलाफ साजिशों का जाल बुनता रहता है। अब पाकिस्तान ने भारत के व्यापारियों को निशाना बनाया है। रोजाना भारत के व्यापारी अरबों का माल पाकिस्तान निर्यात करते हैं, लेकिन अब पाकिस्तान ने एक टेस्ट के नाम पर भारत से निर्यात होने वाले गरम मसाले। जड़ी बूटी,मूंगफली जैसे पदार्थों का निर्यात रोक दिया गया है,जिससे भारत के व्यापारियों का सौ करोड़ के करीब का माल बॉर्डर पर फंसा हुआ है।भारत पिछले तीस साल से ये माल पाकिस्तान को निर्यात करता आया है, लेकिन अब पाकिस्तान सरकार की तरफ से एक टेस्ट के नाम पर इस निर्यात को

पनामा पेपर्स मामले को लेकर पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनके परिवार के चार लोगों के जल्द ही देश से बाहर जाने पर रोक लग सकती है. पाकिस्तान के भ्रष्टाचार रोधी प्राधिकरण ने उनके नाम निकास नियंत्रण सूची में डालने की प्रक्रिया शुरू कर दी है. सर्वोच्च न्यायालय ने इस साल जुलाई में 67 साल के शरीफ को आय के ज्ञात सूत्रों से ज्यादा संपत्ति अर्जित करने के मामले को लेकर प्रधानमंत्री पद के अयोग्य करार दिया गया था, जिसके बाद उन्होंने पद से इस्तीफा दिया. पूर्व प्रधानमंत्री और उनके परिवार के कुछ लोगों पर लंदन में उनकी संपत्तियों के

जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर पाकिस्तान ने सीजफायर का उल्लंघन किया है। पाकिस्तान की ओर से सीमा से सटे पुंछ जिले के देगवार सेक्टर में भारी गोलाबारी की जा रही है। शाहपुर, करमाड़ा और करी सेक्टर में भी पाक की ओर से भारी गोलाबारी अभी जारी है।  भारी गोलीबारी को देखते हुए सीमा से लगे सभी स्कूल बंद कर दिए गए हैं।

धार्मिक सौहार्द को बढ़ावा देने और पर्यटन को मजबूत बनाने के प्रोजेक्‍ट के दौरान पाकिस्‍तान में 1,700 वर्ष पुराने सोए हुए बुद्ध की मूर्ति का अवशेष मिला है। दक्षिण एशियाई देश की संस्‍कृति व इतिहास के पर्याय, खैबर पख्‍तूनख्‍वाह में प्राचीन बौद्ध स्‍थल की खोज पहली बार 1929 में हुई थी। 88 साल बाद खुदाई फिर से शुरू हुई और 14 मीटर ऊंची कंजूर पत्‍थर से निर्मित बौद्ध की मूर्ति निकाली गयी। इसमें बुद्ध सो रहे हैं। इस तरह की बुद्ध की मूर्ति दुनिया में दूसरी नहीं है। इस प्रतिमा को संभालकर रख दिया गया है जिसे लोग देख सकते हैं। देश

नेशनल कांफ्रेंस के प्रमुख फारुक अब्दुल्ला ने बुधवार को एक बार फिर विवादास्पद बयान दे दिया है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने चूड़ियां नहीं पहन रखी हैं और उसके पास भी परमाणु बम है, वह भारत को जम्मू-कश्मीर के अपने कब्जे वाले हिस्से पर नियंत्रण नहीं करने देगा. फारुक अब्दुल्ला ने कहा, ‘‘आज, वे (भारत) दावा करते हैं कि ये हमारा है . तो इसे (पीओके) हासिल कर लीजिए, हम भी कह रहे हैं कि कृपया इसे (पाकिस्तान से) हासिल कर लीजिए. हम भी देखेंगे. वे (पाकिस्तान) इतने कमजोर नहीं हैं और उन्होंने कोई चूड़ियां नहीं पहन रखी हैं. उनके पास

पाकिस्तान के दिग्गज ऑफ स्पिनर सईद अजमल ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी फॉर्मेट को अलविदा कह दिया है। अजमल एक समय वनडे और टी20 की आईसीसी रैंकिंग में दुनिया के नंबर एक गेंदबाज थे। वे टेस्ट में भी काफी सफल थे। अजमल ने इंग्लैंड के खिलाफ 2012 में तीन टेस्ट में 24 विकेट चटकाए। इसके बाद उनके एक्शन पर अंगुली उठी और इसे अवैध घोषित कर अस्थायी प्रतिबंध लगा दिया गया। अजमल ने बदले हुए एक्शन के साथ 2015 में वापसी की, लेकिन उसमें पहले जैसी धार नहीं दिखी। उन्हें बांग्लादेश में दो वनडे और एक टी20 में सिर्फ एक विकेट

मुंबई पर हुए आतंकवादी हमले के मास्टरमाइंड को 'विदेशी जासूसी एजेंसी' ने जान से मारने की योजना बनाई है. पाकिस्तानी अधिकारियों ने पंजाब के गृह विभाग को लिखी चिट्ठी में यह आशंका जताते हुए उसे कड़ी सुरक्षा मुहैया कराने की मांग की है. पाकिस्तान की राष्ट्रीय आतंकवाद निरोधक प्राधिकरण ने इस चिट्ठी में लिखा है कि एक विदेशी जासूसी एजेंसी ने सईद की हत्या के लिए एक प्रतिबंधित संगठन के दो सदस्यों को आठ करोड़ रुपये दिए है. इस चिट्ठी में पंजाब के गृह विभाग से कहा गया है कि वह जमात उद दावा के प्रमुख हाफिज सईद की पुख्ता सुरक्षा

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला ने एक बार फिर विवादित और शर्मनाक बयान दिया है. फारूक अब्दुल्ला ने शनिवार कहा कि स्वतंत्र कश्मीर की बात ‘गलत’ है क्योंकि घाटी चारों ओर से तीन परमाणु शक्तियों - चीन, पाकिस्तान और भारत से घिरी है. अब्दुल्ला ने यह दावा भी किया कि PoK पाकिस्तान का है और यह चीज नहीं बदलेगी, चाहे भारत और पाकिस्तान एक दूसरे के खिलाफ कितने ही युद्ध क्यों ना लड़ लें. गौरतलब है कि एक दिन पहले ही पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने एक स्वतंत्र कश्मीर के विचार को खारिज करते हुए कहा था कि

अटारी-वाघा बॉर्डर पर बनी आईसीपी पर सुरक्षा कवच और मजबूत किया गया। अब पाकिस्तान से आने-जाने वाले ट्रकों की स्कैनर से जांच की जाएगी। इस आईसीपी के ऊपर पहली बार आईसीपी चैंबर ऑफ कॉमर्स का गठन किया गया है। इस बीच इस चैंबर की पहली मीटिंग हुई। जिसमें आईसीपी से जुड़े सभी विभागों के अधिकारी और राज्यसभा सांसद श्वेत मलिक मौजूद रहे। इस दौरान आईसीपी के जुड़े मुद्दों पर चर्चा की गई।