जिला अस्पताल में तैनात फिजियोथैरेपिस्ट ज्योति ठाकुर की मौत के मामले में फोरैसिंक एक्सपर्ट डा. एन.के. सांख्यान ने एंटी मार्टम हैंगिंग रिपोर्ट पुलिस को दी है, जिसमें उन्होंने स्पष्ट किया है कि ज्योति की मौत फंदा लगाने से ही हुई है। रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि ज्योति के गले में फंदा लगने के बाद उसने इसे अपने गले से छुड़ाने की कोशिश भी की है, ऐसा दो ही परिस्थितियों में होता है। एक तो जब इंसान को फंदा लगाने पर कष्ट होता है तो और दूसरा उस स्थिति में जब कोई दूसरा उसे जबरन फंदे पर लटकाने