पाकिस्तानी सेना ने जम्मू एवं कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया. इस घटना में भारत की ओर से किसी के हताहत होने या किसी तरह की क्षति की कोई खबर नहीं है. रक्षा मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तानी सेना ने शुक्रवार शाम को नौशेरा सेक्टर के लाम क्षेत्र में बिना किसी उकसावे के भारी गोलीबारी की. उन्होंने मोर्टार, स्वचालित और छोटे हथियारों से भारतीय चौकियों पर निशाना साधा. मिली जानकरी के मुताबिक, "हमारे जवानों ने मुस्तैदी से और प्रभावी तरीके से जवाब दिया. दोनों ओर से गोलीबारी शाम पांच बजे शुरू हुई और यह

जम्मू- कश्मीर में आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए पाकिस्तान लगातार सीमा पार व्यापार के जरिए टेरर फंडिंग कर रहा है, जिसको रोकने के लिए कवायद शुरू हो गई है. राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी यानी NIA  ने गृह मंत्रालय को उरी और पुंछ के रास्ते होने वाले सीमापार व्यापार को बंद करने की सिफारिश की है.  आपको बाते दे कि साल 2008 में दोनों देशों के बीच इन जगहों से सीमापार व्यापार शुरु हुआ था. NIA ने अपनी सिफारिश में कहा कि गृह मंत्रालय की ओर से व्यापार के लिए बनाई गए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर का पालन नहीं किया गया. NIA ने

पाकिस्तान की अोर से एक बार फिर सीजफायर उल्लंघन का मामला सामने अाया है। शुक्रवार तड़के पाकिस्तानी सेना की अोर बालाकोट सेक्टर में फायरिंग की गई। इस हमले में 1 नागरिक घायल हो गया है। उधर, भारतीय सेना भी मुंहतोड़ जवाब दे रही है। इ ससे पहले पाक सेना ने आतंकियों को भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ कराने के लिए बुधवार देर रात पुंछ सेक्टर में भारी गोलाबारी की। भारतीय सेना की पांच चौकियों को निशाना बनाकर की गई गोलाबारी में दो जवान घायल हो गए। जवाब में भारतीय सेना ने भी पाक को मुंहतोड़ जवाब दिया। सीमा पार पाक सेना को

दिल्ली सीमा पर पाकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम (BAT) द्वारा सैनिकों पर हमला किए जाने के बाद उनका बर्बर चेहरा सामने आया है. खबरों के अनुसार, BAT के सैनिक अपने साथ खास तरह से सिर पर बांधे जा सकने वाले कैमरे लेकर आए थे ताकि भारतीय सैनिकों को हत्या को रिकॉर्ड कर सकें. एक अधिकारी के अनुसार, ऑफिसर ने बताया कि 22 जून को घुसपैठ के दौरान BAT के आतंकियों ने सिर पर बंधे बैंड में कैमरा लगाया हुआ था ताकि वे अपने विरोधियों का गला काटते वक्त उसे रिकॉर्ड कर सकें. ऑफिसर ने आगे कहा, ‘इस बात की जांच की जानी चाहिए

पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (BAT) ने एक बार फिर नापाक हरकत किया है. इस साल तीसरी बार भारतीय सीमा में घुसकर हमले करने की पाकिस्तानी BAT की कोश‍िश को गुरुवार दोपहर को पूंछ में भारतीय सेना ने नाकाम कर दिया है. भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई में एक घुसपैठिया मारा गया है. इस कार्रवाई में हमारे दो जवान शहीद हो गए हैं. आज दोपहर सेना की एक पेट्रोलिंग पार्टी पर पाकिस्तान की तरफ से BAT के सशस्त्र घुसपैठियों ने गोलीबारी शुरू कर दी और दोनों तरफ से फायरिंग होने लगी. इस फायरिंग के दौरान ही घुसपैठियों को कवर देने की

जम्मू और कश्मीर के पुंछ में पाकिस्तान द्वारा एक बार फिर सीजफायर का उल्लंघन किया गया है. इसमें एक नागरिक घायल हो गया है जिसके बाद उसको अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पाकिस्तान की ओर से फायरिंग लगातार जारी है और भारतीय सेना इसका मुंहतोड़ जवाब दे रही है. बताया जा रहा है कि पाकिस्तान की तरफ से शुक्रवार रात 11 बजे से ही मोर्टार दागे गए और भारी गोलीबारी कर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया गया. इससे पहले पाकिस्तान ने सीजफायर का उल्‍लंघन करते हुए गुरुवार को एलओसी से सटे कश्‍मीर के कुछ क्षेत्रों में अंधाधुंध फायरिंग की थी, जिसका

जम्मू-कश्मीर में  LoC पर सतर्क सुरक्षाबलों ने एक बार फिर पाक की एक बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया है. जानकारी के मुताबिक LoC से सटे पुंछ जिले में घुसपैठ की कोशिश कर रहे एक घुसपैठिए को सुरक्षाबलों ने मार गिराया है. जानकारी के अनुसार सुरक्षाबलों द्वारा रविवार सुबह नियंत्रण रेखा के रास्ते पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ कर रहे एक शख्स को मार गिराया गया है. हालांकि सुरक्षाबलों की कार्रवाई के बाद घुसपैठिये की शिनाख्त के विषय में अब तक किसी भी प्रकार की जानकारी नहीं मिल सकी है.

पंजाब सरकार ने शहीद परमजीत सिंह के परिजनों के लिए आर्थिक मदद का भी एलान कर दिया है। पंजाब सरकार परमजीत सिंह के परिजनों को बारह लाख की आर्थिक मदद देगी। इसके अलावा परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी दी जाएगी और शहीद के बच्चों की पढ़ाई का सारा खर्च पंजाब सरकार उठाएगी। इसके अलावा मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह रविवार को शहीद परमजीत के परिजनों से मुलाकात करने के लिए तरनतारन में उनके पैतृक गांव भी जाएंगे।

कृष्णा घाटी में पाकिस्तानी सेना द्वारा किए गए हमले में दो जवानों के शहीद होने और शवों के साथ बर्बरता के बाद पूरे देश में रोष व्याप्त है। वहीं शहीद प्रेम सागर की बेटी ने कहा है कि उनके पिता के बलिदान के बदले उन्हें 50 पाकिस्तानी जवानों के सिर चाहिए। पाकिस्तानी सेना ने सोमवार को कृष्णा घाटी सेक्टर में दो भारतीय चौकियों पर बिना उकसावे के ही रॉकेट लॉन्चर्स और मोर्टार से हमला किया। इसकी चपेट में आकर दो जवान शहीद हो गए। पाकिस्तानी सेना ने शहीदों के साथ बर्बरता की और उनके शव क्षत-विक्षत कर डाले। हमले में बीएसएफ

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने पाक सेना द्वारा किए गए बर्बर हमले की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि, 'सेना को कर्तव्य निर्वहन के दौरान खतरनाक स्थितियों से निपटने के लिए खुली छूट दी जानी चाहिए।' उन्होंने सीमा पर सैनिकों पर बढ़ते खतरे पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि भारतीय सैनिकों के साथ एकजुटता प्रदर्शित की। मुख्यमंत्री स्वयं एक भूतपूर्व सैनिक हैं। उन्होंने कहा कि हमारे सैनिकों को सभी तरह के खतरों और अत्याचार का सामना करना पड़ रहा है। ना केवल सीमापार दुश्मन देश की सेना की ओर से बल्कि कभी कभी नागरिकों की ओर से भी खतरे का