गुरुग्राम के चर्चित प्रद्युम्न हत्या कांड मामले की जांच कर रहे एक और अधिकारी का तबादला कर दिया गया है. भोंडसी थाने के एसएचओ नरेंद्र खटाना का पंचकूला में तबादला कर दिया गया है. बता दें कि इसे पहले 29 सितंबर को केस से जुड़ी एसीपी का भी ट्रांसफर कर दिया गया है. दोनों पुलिस अधिकारियों का मामले की सीबीआई जांच शुरू होने के बाद तबादला किया गया है.

रेयान इंटरनैशनल स्कूल की निलंबित प्रिंसिपल नीरजा बत्रा को स्कूल के गुड़गांव सेक्टर 40 ब्रांच में अध्यापक पद पर नौकरी दे गई. स्कूल प्रशासन के इस कदम से एक बार फिर उंगलियां उठ रही हैं. खुद प्रद्युमन के पिता वरुण ने भी प्रशासन के इस कदम पर आपत्ति जताई है. गौरतलब है कि पिछले महीने 8 सितंबर को रेयान स्कूल के भोंडसी ब्रांच में दूसरी कक्षा के प्रद्युमन ठाकुर की बेरहमी से गला रेतकर हत्या कर दी गई थी. पुलिस ने शुरुआती कार्रवाई में स्कूल बस के कंडक्टर अशोक को गिरफ्तार कर लिया था लेकिन प्रद्युमन के पैरंट्स की मांग पर

रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुई 7 वर्षीय मासूम प्रद्युम्न हत्या मामले में सीबीआई ने जांच शुरू कर दी है. जांच शुरू करते ही सबसे पहले सीबीआई ने केस दर्ज किया. वहीं इस मामले में सीबीआई की तीन सदस्यीय टीम शनिवार सुबह गुरुग्राम स्थित स्कूल पहुंची.शुक्रवार को अधिसूचना जारी होने के बाद सीबीआई ने इस मामले की जांच अपने हाथ में ली. जांच के दौरान सीबीआई स्कूल के कुछ लोगों का बयान भी दर्ज कर सकती है. माना जा रहा है कि सीबीआई आज पुलिस से इस केस से जुडे सभी दस्तावेज इकट्ठा करेगी. वहीं इस मामले में पिंटो परिवार से भी

प्रद्युम्न हत्याकांड की जांच में तेजी आई है. गुरुग्राम पुलिस ने प्रद्युम्न हत्या  मामले में पूछताछ के लिए आरोपी रेयान ग्रुप के ट्रस्टी रेयान पिंटो और ग्रेस पिंटो को समन जारी किया है. समन में  पिंटो परिवार को 26 सितंबर को पेश होने के लिए कहा है.इस पूरे मामले में पुलिस स्कूल की लापरवाही भी मान रही है जिसके लिए पुलिस मालिकों से पूछताछ करेगी.आपको बता दें कि रेयान परिवार की अग्रिम जमानत अर्जी खारिज होने के बाद से इनपर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है

रेयान ग्रुप के ट्रस्टी पिंटो परिवार को बड़ा झटका लगा है. हाईकोर्ट ने रेयान पिंटो, ग्रेस पिंटो और फ्रांसिस पिंटो की अग्रिम जमानत अर्जी खारिज कर दी है. जज इंदरजीत सिंह ने पिंटो परिवार की गिरफ्तारी पर रोक लगाने से इनकार कर दिया है और इस मामले में हरियाणा सरकार को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है. आपको बता दें कि रेयान ग्रुप के तीन ट्रस्टीज ने गिरफ्तारी से बचने के लिए कोर्ट में अंतरिम जमानत की याचिका दर्ज की है.इससे पहले बॉम्बे हाईकोर्ट भी पिंटो परिवार की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर चुका है.

  गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में सात साल के मासूम की हत्या के बाद मामले की जांच तेज हो गई है.आज रेयान स्कूल में फॉरेंसिक, सीबीएससी और हरियाणा पुलिस की जांच टीम पहुंची है. उधर,मासूम की हत्या के बाद गिरफ्तार किए गए स्कूल के अफसरों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की है.वरिष्ठ वकील वरिष्ठ वकील केटीएस तुलसी गिरफ्तार अफसरों की ओर से अर्जी दायर की.याचिका में कहा गया है कि गुरुग्राम बार एसोसिएशन ने इंकार किया है कि कोई भी वकील केस नहीं लड़ेगा.ऐसे में फ्री एंड फेयर ट्रायल के अधिकार का उल्लंघन होता है.ऐसे में इस अर्जी के

प्रद्युम्न हत्या मामले में सीबीआई जांच की मांग के चलते एजी हरियाणा बलदेवराज महाजन ने कहा है कि इस पूरे मामले को बड़ी गंभीरता से देखा जा रहा है और सरकार की तरफ से खुद एजी या कोई लॉ ऑफिसर सुप्रीम कोर्ट में पेश होगा। हरियाणा सरकार में महाअधिवक्ता बलदेव राज महाजन ने जानकरी देते हुए बताया है कि अगर सीबीआई जांच की मांग उठती है तो सरकार को कोई एतराज नहीं है। साथ ही उन्होंने कहा कि कोर्ट में हरियाणा सरकार की और से जारी की गई एडवाइजरी पेश की जाएगी और जो भी सुप्रीम कोर्ट की और से

प्रद्युम्न मर्डर केस में रेयान इंटरनेशनल स्कूल के बस ड्राइवर सौरभ राघव ने चौंकाने वाला खुलासा किया. उसने बताया कि हत्या में इस्तेमाल चाकू टूल किट का हिस्सा नहीं था. स्कूल के बस ड्राइवर सौरभ राघव ने बताया कि घटना के बाद उसने अशोक की शर्ट पर खून के निशान देखे थे.साथ ही रेयान स्कूल के बस ड्राइवर अशोक ने हैरान कर देने वाला खुलासा ये किया कि प्रद्युम्न की हत्या के बाद आधे घंटे तक अशोक स्कूल में था. तो वहीं सुप्रीम कोर्ट स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर 15 सितंबर को मामले में सुनवाई करेगी. इसी के साथ

रेयान मर्डर केस में सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र, हरियाणा सरकार और मानव संसाधन विकास मंत्रालय को नोटिस भेजकर तीन हफ्ते में जवाब मांगा है.साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई और सीबीएसई को भी नोटिस भेजा है.तो वहीं रेयान इंटरनेशनल स्कूल के सीईओ रायन पिंटो ने बॉम्बे हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए अर्जी दायर की है. इस मामले में अदालत में मंगलवार को सुनवाई होनी है.प्रद्युम्न के मामले में बढ़ते दबाव के बीच हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि सरकार इस केस की सीबीआई जांच को तैयार है. प्रद्युम्न के पिता वरुण ठाकुर को फोन कर सीएम

  7 साल के मासूम प्रद्युम्न के कत्ल के आरोपी बस कंडक्टर अशोक की गलती की सजा अब उसका परिवार भुगत रहा है. ग्रामीणों ने अशोक के परिवार का बहिष्कार कर दिया है. उन्होंने अशोक के परिवार का हुक्का-पानी बंद कर दिया. उधर, प्रद्युम्न को इंसाफ दिलाने और इस गुनाह के हर गुनहगार को सजा दिलाने की मांग तेज हो रही है। गुरुग्राम में जहां एक तरफ अभिभावकों का रेयान इंटरनेशनल स्कूल के खिलाफ गुस्सा फूट गया है..तो वहीं करनाल में अभिभावक एकता संघ ने पुरानी सब्जी मंडी से कमेटी चौक तक कैंडल मार्च निकाला। यहां हाथों में जलती मोमबत्ती लिए सैंकड़ों