पेट्रोल-डीजल पर भले ही केंद्र सरकार ने एक्साइज ड्यूटी घटाकर राहत देने की कोशिश की है, लेकिन ये राहत भी अब बेअसर साबित होती नजर आ रही है. सोमवार को मुंबई में एक लीटर पेट्रोल 76 रुपये पर पहुंच गया है. वहीं, डीजल 60.78 रुपये पर है. फिलहाल पेट्रोल और डीजल की कीमतों में राहत मिलने के आसार नहीं दिख रहे. दरअसल अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में लगातार इजाफा हो रहा है. कच्चे तेल की कीमतें 2015 के बाद सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंच गए हैं. फिलहाल अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल 62 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच

सरकार ने सब्सिडी वाले सिलेंडर की कीमत अगले साल मार्च तक हर महीने चार रुपये बढ़ाने की घोषणा की है. इसका मकसद मार्च, 2018 तक घरेलू सिलेंडरों पर मिलने वाली छूट को खत्‍म करना है. इस संबंध में पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सोमवार को लोकसभा में कहा, ''पिछले साल सरकार ने ऑयल कं‍पनियों को सब्सिडी पर मिलने वाले सिलेंडरों के दाम हर महीने 2 रुपये बढ़ाने का ऑर्डर दिया था लेकिन अब वह बढ़ोतरी चार रुपये कर दी है.'' इस तरह अगले साल मार्च तक सिलेंडर की कीमत 32 रुपये बढ़ जाएगी. उल्‍लेखनीय है कि अभी हर एलपीजी सिलेंडर कनेक्‍शन

हरियाणा में बिजली महंगी हो गई हैं। बिजली की दरों को 25 से 50 पैसे प्रति यूनिट बढ़ाया गया है। घरेलू उपभोक्ताओं के लिए 25 से 35 पैसे प्रति यूनिट, कमर्शियल उपभोक्ताओं के लिए 25 से 50 पचास पैसे प्रति यूनिट, औद्योगिक क्षेत्र में भी 25 से 50 पैसे प्रति यूनिट कर दी गई हैं। बिजली की दरें एक जुलाई से लागू होंगी।