चंडीगढ़ पीयू प्रशासन की कार्यशैली लगातार सवालों के घेरे में है। दशहरे के दिन फैशन टेक्नोलॉजी विभाग की इमारत में एक व्‍यक्ति करीब पौने दो घंटे तक लिफ्ट में फंसा रहा। इससे वहां अफरा-तफरी मच गई। हालत यह थी कि लिफ्ट के लिए न तो बिजली की व्‍यवस्‍था और न ही बैटरी का बैक अप था। करीब सवा दो महीने पहले लिफ्ट के सिस्टम में डाली गई चारों नई बैटरी डेड हो गई। लिफ्ट में फंसे हरवंश की जान पर बन आई। बाद में ड्यूटी पर तैनात गार्ड ने सिक्योरिटी को सूचना दी। घंटों की मशक्कत के बाद पुलिस, सिक्योरिटी और फायरब्रिगेड

पीयू के आर्थिक हालात को लेकर पंजाब सरकार ने वीसी प्रो. अरुण ग्रोवर को सकारात्मक संकेत दिए हैं। मंगलवार को पीयू कुलपति ग्रोवर और पंजाब के वित्त मंत्री मनप्रीत बादल के बीच महत्वपूर्ण मीटिंग हुई है। जानकारी अनुसार कुलपति ने वित्त मंत्री के सामने पंजाब सरकारी की ओर से यूनिवर्सिटी को दिए जाने वाले बजट के हिस्से को लेकर विस्तार से चर्चा हुई। प्रो. ग्रोवर ने बताया कि पंजाब सरकार ने सहयोग का आश्वासन दिया है। उन्होंने बताया कि यूजीसी और एमएचआरडी अधिकारियों के साथ होने वाली मीटिंग में फंड को लेकर फैसला होगा। पंजाब सरकार ने दिल्ली में होने वाली

चंडीगढ़ पंजाब यूनिवर्सिटी में फीस बढ़ोतरी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे छात्रों और पुलिस के बीच 11 अप्रैल को हुई झड़प में गिरफ्तार 53 छात्रों को कोर्ट से जमानत मिल गई है. छात्रों का कहना है कि फीस बढ़ोतरी के खिलाफ उनका प्रदर्शन जारी रहेगा और इसके लिए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से भी मुलाकात करेंगे और फंड की मांग करेंगे. वहीं दूसरी ओर फीस बढ़ोतरी के खिलाफ एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने चंडीगढ़ की सांसद किरण खेर के आवास का घेराव करने पहुंचे, लेकिन चंडीगढ़ पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को पहले ही रोक दिया. इस दौरान चंडीगढ़ पुलिस ने 11 एनएसयूआई कार्यकर्ताओं को

चंडीगढ़ पंजाब यूनिवर्सिटी के छात्रों और पुलिस के बीच मंगलवार को जमकर झड़प हुई. बताया जा रहा है कि यूनिवर्सिटी द्वारा फीस बढ़ोतरी किए जाने का छात्र विरोध कर रहे हैं. मंगलवार को भी छात्रों के प्रदर्शन को देखते हुए सुरक्षा के मद्देनजर विश्वविद्यालय परिसर में पुलिस फोर्स की तैनाती की गई थी. वहीं प्रदर्शन कर रहे छात्रों को जब पुलिस ने रोकने की कोशिश की तो छात्रों ने पथराव शुरू कर दिया. वहीं, छात्रों द्वारा किए गए पथराव में कई पुलिसकर्मियों को गंभीर चोटें आईं हैं. जिसके बाद पुलिसकर्मियों ने हालात पर काबू पाने के लिए बल प्रयोग किया और छात्रों को