पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने पंजाब की घरेलू प्रिंटिंग इंडस्ट्री को बचाने का आज भरोसा दिया है। जालन्धर प्रिंटर्स एसोसिएशन के एक प्रतिनिधिमंडल ने आज यहां मुख्यमंत्री से मुलाकात की तथा उनके समक्ष अपने मसले रखे। एसोसिएशन की तरफ से महासचिव अश्विनी गुप्ता, उपाध्यक्ष रजनीश मनूजा, कार्यकारिणी सदस्य राजेश कपूर व कुलभूषण सूरी ने मुख्यमंत्री से मुलाकात की। पंजाब के प्रिंटर्स का पक्ष मुख्यमंत्री के सामने रखते हुए जालन्धर प्रिंटर्स एसोसिएशन ने उन्हें बताया कि पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा अपनी पाठ्य पुस्तकों की प्रिंटर्स का कार्य पंजाब से बाहर अन्य प्रिंटर्स को देने की योजना तैयार की गई

जालंधर निगम चुनाव को लेकर कांग्रेस ने कमर कस ली है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह वीरवार को जालंधर पहुंचे। सीएम बनने के बाद कैप्टन पहली बार जालंधर पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि वह यहां पहले आना चाहते थे, लेकिन राज्य के आर्थिक हालात ठीक नहीं थे। पिछली अकाली-भाजपा सरकार राज्य पर  2 लाख 8 हजार करोड़ का कर्ज छोड़कर गई है। कैप्टन ने कहा कि पंजाब में विकास कार्यों के लिए पैसे चाहिए, इसलिए टैक्स लगाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकार ने पंजाब को कर्जे में डुबा दिया। अब कांग्रेस सरकार इस कर्जे को उतारने और सूबे के विकास पर

चंडीगढ़/जालंधर 10 साल बाद पंजाब में सरकार बनाने वाली कांग्रेस गुरदासपुर उपचुनाव को लेकर कोई रिस्क लेने को तैयार नहीं है। इसके लिए पार्टी कई स्तर पर फीडबैक लेने में जुटी है। इस बीच सोमवार को मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह, प्रदेश प्रभारी आशा कुमारी ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की। इससे पहले तीनों के बीच एक बैठक हुई, जिसमें पंजाब के राजनीतिक हालात, विपक्षी दलों के संभावित उम्मीदवारों पर चर्चा हुई। बैठक में आशा कुमारी ने अपने स्तर पर जुटाई गई पार्टी नेताओं व विधायकों की फीडबैक पर कैप्टन के साथ चर्चा की। महत्वपूर्ण बात यह है कि कैप्टन ने ज्यादातर

अमेरिका में सिख युवक से हुए नस्लीय हमले पर पंजाब के मुख्यमत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने चिंता जताई है. उन्होंने अमेरिकी के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और पीएम मोदी को ट्वीट कर इस मामले में कदम उठाने की अपील की है. एक अन्य ट्वीट में कैप्टन ने कहा कि अमेरिका में भारतीय और सिख खुद को सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे हैं. प्राथमिकता के आधार पर उनकी हिफाजत की जाए. https://twitter.com/capt_amarinder/status/873812241216176128 https://twitter.com/capt_amarinder/status/873812086270423040

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह आज दिल्ली में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की. मुलाकात के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने बताया कि उन्होंने इस दौरान सरकार के काम काज की जानकारी दी है और कैबिनेट विस्तार पर चर्चा जारी है, जिसके बारे में मीडिया को जल्द  जानकारी दी जाएगी। उधर, राणा गुरजीत सिंह विवाद पर कैप्टन ने कहा, कि कमीशन बनाया है वो काम कर रहा है, ये सिर्फ मीडिया हाइप है। खैरा के आरोपों पर कैप्टन ने पलटवार करते हुए कहा की एक कमीशन हमने बनाया है उसमें खैरा का रिश्तेदार है, कमीशन अपने तरीक़े से काम

चंडीगढ़ में पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह हायर एजुकेशन को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। बैठक पंजाब सचिवालय में होगी। इस बैठक में सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह अधिकारियों के साथ हायर एजुकेशन को लेकर चर्चा करेंगे।

पुंछ हमले में शहीद हुए परमजीत के परिवारवालों से मिलने पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह पहुंचे. इस मौके पर उनके साथ पंजाब कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू और नवनियुक्त पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ भी मौजूद रहे. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने ऐलान किया कि परिवार में से बड़ी बेटी को सरकारी नौकरी दी जाएगी और फ्लैट भी दिया जाएगा। इसके अलावा बच्चों की पढ़ाई का खर्च पंजाब सरकार उठाएगी।  कैप्टन ने शहीद के परिवारवालों को 12 लाख का चैक भी दिया.

दिल्ली पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुलाकात की. मुलाकात के दौरान सरप्लस बिजली को पाकिस्तान और नेपाल को बेचने की अनुमति, किसानों का मुद्दा और विशेष पैकेज को लेकर चर्चा की गई. कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से राज्य में पैदा हो रही सरप्लस बिजली को पाकिस्तान और नेपाल को बेचने की अनुमति मांगी और इस मामले में दखल देने की अपील की, ताकि प्रदेश में आर्थिक संसाधन और बढ़ सके और लोगों पर टैक्स का भार कम हो. https://twitter.com/capt_amarinder/status/855062043589836800 मुख्यमंत्री ने पीएम से मुलाकात के दौरान किसानों का भी मुद्दा उठाया और

पंजाब में वीआईपी कल्चर को लेकर आज मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह रिव्यू मीटिंग लेंगे। जानकारी के मुताबिक इस मीटिंग में पंजाब के डीजीपी और एडीजीपी भी मौजूद रहेंगे। बैठक में प्रदेश में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर भी बात की जाएगी। इसके अलावा सीएम अमरिंदर सिंह बैठक में जरूरी निर्देश भी देंगे।

आज कैप्टन अमरिंदर सिंह की अध्यक्षता में पंजाब मंत्रिमंडल की अहम बैठक होगी। पहले ये बैठक 20 अप्रैल को रखी गई थी लेकिन प्रधानमंत्री द्वारा इसी दिन SYL मुद्दे पर पंजाब-हरियाणा के मुख्यमंत्रियों की बैठक बुलाने की वजह से ये बैठक आज बुलाई गई है। जानकारी के मुताबिक बैठक में SYL मुद्दे पर प्रधानमंत्री के समक्ष रखे जाने वाले पंजाब के पक्ष पर भी चर्चा की जाएगी। इसके अलावा बैठक में संसदीय सचिव लगाने संबंधी आॢडनैंस पर भी चर्चा हो सकती है। इस दौरान पहली मंत्रिमंडल बैठक में हुए 118 फैसलों पर हुई कार्रवाई की समीक्षा की जाएगी। उल्लेखनीय है कि