बाबा राम रहीम जेल में आम कैदियों की तरह नहीं रह रहा है, बल्कि जेल में भी ऐश कर रहा है. दरअसल, रोहतक जेल से रिहा हुए एक कैदी ने खुलासा किया है कि जेल में राम रहीम को वीआईपी ट्रीटमेंट दिया जा रहा है. साथ ही उसे वो तमाम सुविधाएं मिल रही हैं जो जेल के बाकी कैदियों को नसीब नहीं हैं. रेप का दोषी राम रहीम हरियाणा की रोहतक जेल में बंद है लेकिन जेल में कैसे राम रहीम ने बाकी कैदियों की जिंदगी नर्क बना दी है इसका खुलासा किया जेल से जमानत पर रिहा हुए एक युवक

चंडीगढ़ साध्वियों से रेप केस में 20 साल की सजा काट रहे राम रहीम को लेकर आए दिन नए-नए खुलासे हो रहे हैं। ऐसे ही एक खुलासे के तहत पासपोर्ट डिपार्टमेंट ने नियमों को ताक पर रखकर अंबाला में महज आधे घंटे में राम रहीम का पासपोर्ट जारी किया था। राम रहीम ने 2015 में टोपी पहनकर पासपोर्ट के लिए फोटो खिंचवाई थी। विदेश मंत्रालय इसकी जांच कर रहा है। नियमों के अनुसार आवेदक पासपोर्ट के लिए फोटो खिंचवाते समय टोपी नहीं पहन सकता। वहीं कहा जा रहा है कि राम रहीम पर पासपोर्ट एक्ट के तहत केस दर्ज हो सकता

साध्वियों से रेप मामले में 20 साल की सजा काट रहे डेरा प्रमुख राम रहीम का शाही परिवार 61 दिनों के बाद अपने डेरा परिसर में वापिस आ गया है। 25 अगस्त को राम रहीम के दोषी करार होने के बाद से ही परिवार ने डेरा छोड़ दिया था। हालांकि परिवार के सभी सदस्यों ने मीडिया से दूरी बनाई हुई है। सूत्रों के अनुसार राम रहीम के बेटे जसमीत इंसां ने डेरे की बागडोर संभालनी शुरू कर दी है। हनीप्रीत के जेल जाने के बाद राम रहीम का सारा परिवार सामने आया।उसके बाद जसमीत अपनी दादी नसीब कौर और परिवार के

रेप केस में राम रहीम के जेल जाने के बाद पंचकूला में हुई हिंसा की जांच कर रही एसआईटी ने चंडीगढ़ पुलिस के एक हेड कांस्टेबल को गिरफ्तार किया है. लाल चन्द नाम का यह पुलिस कर्मचारी खुफिया विभाग में तैनात है. इसके साथ ही इस केस से जुड़े तीन और लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. पुलिस चारों से पूछताछ कर रही है. सूत्रों के मुताबिक, 25 अगस्त के दिन लाल चन्द बिना किसी ड्यूटी के पंचकूला की सीबीआई कोर्ट के बाहर तैनात था. उस पर आरोप है कि वह डेरा सच्चा सौदा का अनुयाई है. उसे उस दिन

दो साध्वियों से दुष्कर्म मामले में बीस साल की सजा के खिलाफ डेरा मुखी गुरमीत सिंह राम रहीम ने अपने खिलाफ सीबीआइ अदालत द्वारा सुनाई गई सजा को पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट में चुनौती देते हुए इसे रद करने की मांग की थी. हाई कोर्ट ने इसे एडमिट करते हुए आज सीबीआइ को नोटिस जारी किया है. इसके अलावा यौन शोषण का शिकार उन दो साध्वियों ने भी हाई कोर्ट में अपील दायर की थी कि डेरा प्रमुख की सजा को आजीवन कारावास में तब्दील किया जाए.इसे भी हाई कोर्ट ने एडमिट करते हुए सीबीआइ को नोटिस जारी किया

रेप केस में 20 साल की सजा काट रहे डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं, रेप केस की दोनों पीड़िताओं ने पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट में बुधवार को एक याचिका दायर की. इस याचिका में अपील की गई कि राम रहीम की 20 साल की सजा को उम्रकैद में बदला जाए. दोनों ने सीबीआई कोर्ट के फैसले को चुनौती देते हुए राम रहीम के कृत्य को ध्यान में रखते हुए सजा बढ़ाए जाने की बात कही है. बता दें ​कि राम रहीम को 15 साल से चल रहे रेप केस में 25 अगस्त को दोषी ठहराया गया

डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की मुंह बोली बेटी और मुख्य राजदार हनीप्रीत को  आज पंचकूला कोर्ट में पेश किया गया. जहां से कोर्ट ने हनीप्रीत को 6 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया. बता दे कि मंगलवार को ही एस.आई.टी. ने हनीप्रीत के जीरकपुर के पटियाला रोड से गिरफ्तार किया था. वहीं हनीप्रीत को पनाह देने वालों पर भी पुलिस शिकंजा कस रही है. पुलिस ने एक महिला डेरा प्रेमी सुखदीप को भी हिरासत में लिया है. हनीप्रीत पर गुरमीत राम रहीम पर आए फैसले के बाद पंचकूला में हिंसा भड़काने का आरोप है..साथ ही उस पर राम रहीम को

राम रहीम और हनीप्रीत को लेकर एक बेहद चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. डेरे के एक पूर्व सेवादार ने सनसनीखेज खुलासा किया है कि राम रहीम अपनी हनीप्रीत से एक बच्चा चाहता था, जिसे वो डेरे प्रमुख बनाए. पूर्व सेवादार गुरदास सिंह तूर का आरोप है कि ये आइडिया खुद हनीप्रीत का था. वो नहीं चाहती थी कि राम रहीम के बाद डेरा का उतना बड़ा साम्राज्य उसके बेटे जसमीत सिंह इंसां को मिले. गुरदास सिंह तूर के मुताबिक, राम रहीम के बाद डेरे में हनीप्रीत का दबदबा नंबर दो जैसा बन चुका था, इसलिए वो चाहती थी कि राम रहीम

SIT की पूछताछ में डेरा सच्चा सौदा को लेकर कुछ अहम जानकारी सामने आई है. सिरसा में SIT के डीएसपी कुलदीप सिंह ने जब डेरा सच्चा सौदा के वाईस चेयरमैन डॉ पीआर नैन से पूछताछ की तो उन्होंने हड्डी और कंकाल से जुड़े कुछ दस्तावेज SIT को सौंपे. पूछताछ के बाद मीडिया से बात करते हुए डीएसपी कुलदीप ने बताया कि पंचकूला और सिरसा दंगों को लेकर डॉ पी आर नैन से पूछताछ की गई है और इस पूछताछ में डॉ नैन ने छह सौ अस्थिदान का रिकार्ड भी SIT की टीम को सौंपा है. डीएसपी कुलदीप सिंह ने कहा कि