सीएम योगी आदित्यनाथ ने सहारनपुर की मासूम बच्ची की गुहार पर कोमा में चले गए उसके पिता का सरकारी खर्च पर इलाज कराने का निर्देश दिया है। यह मामला ट्विटर के माध्यम से उनकी जानकारी में आया था। सहारनपुर के गंगोह थाना क्षेत्र स्थित अलीपुर गांव की इशु की तकलीफ को लोगों ने ट्वीटर के माध्यम से सीएम योगी आदित्यनाथ और पीएम मोदी के संज्ञान में लाते हुए मदद देने का अनुरोध किया था। बच्ची ने पीएम को लिखी थी चिट्ठी - ट्विटर पर इशु के साथ कोमा में चले गए उसके पिता अरुण कुमार की तस्वीर के अलावा ईशू द्वारा पीएम

सहारनपुर यूपी के सहारनपुर के शब्बीरपुर गांव के पीड़ितों से मिलने सहारनपुर जाने की कोशिश कर रहे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को पुलिस और प्रशासन ने हरियाणा बॉर्डर पर यमुना पुल पर ही रोक लिया. जिसके बाद राहुल गांधी ने सहारनपुर के सरसावा बार्डर पर पीड़ित परिवार के लोगों से मुलाकात की. उसके बाद वापस दिल्ली लौट गए. शब्बीरपुर गांव जाने से रोके जाने के विरोध में राहुल गांधी ने करीब एक किलोमीटर की पदयात्रा की और एक ढाबे पर मीडिया के लोगों से बातचीत की. https://twitter.com/ANINewsUP/status/868398197491679232 राहुल गांधी ने कहा कि आज के हिंदुस्तान में गरीब, कमजोर के लिए जगह नहीं है. दलितों

यूपी के सहारनपुर में जातीय हिंसा की घटनाओं  पर काबू पाने के लिए मोबाइल इंटरनेट और मैसेजिंग सर्विसेज पर रोक लगा दी गई है. आपको बता दें कि जिला प्रशासन के मुताबिक किसी भी तरह के अफवाह से बचने के लिए ये कदम उठाया गया है. जिलाधिकारी एनपी सिंह ने अपने आदेश में कहा, कि टेलीकॉम प्रदाताओं द्वारा उपलब्ध इंटरनेट, मैसेजिंग एवं सोशल मीडिया का प्रयोग असामाजिक तत्व अफवाह और भ्रामक सूचनाओं को फैलाने में कर रहे हैं. उन्होंने कहा, धारा 144 के अंतर्गत प्रदत्त अधिकारों का प्रयोग करते हुए दूरसंचार प्रदाता कंपनियों के मोबाइल नेटवर्क में उपलब्ध सभी इंटरनेट मैसेजिंग एवं

सहारनपुर दो समुदायों के बीच जारी हिंसा को लेकर सख्त यूपी सरकार ने बड़ी कार्रवाई करते हुए हिंसा पर नियंत्रण पाने में असफल रहे डीएम एनपी सिंह, एसएसपी एससी दुबे, एसडीएम और सीओ को उनके पद से हटा दिया है. खबरों की मानें तो सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस मामले में डीजीपी को भी कड़ी फटकार लगाई है. बुधवार को भी शहर के जनकपुरी में जनता रोड पर एक शख्स को गोली मार दी गई. वहीं बड़गांव में भी दो लोगों को नकाबपोशों ने गोली मारी. जबर्दस्त तनाव को देखते हुए पूरे इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है.