शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी के अध्यक्ष प्रोफेसर किरपाल सिंह बडूंगर ने खालिस्तान पर दिए गए बयान पर अपनी सफाई दी. उन्होंने कहा कि बयान को तोड़ मरोड़ कर पेश किया गया है. उन्होंने कहा कि देश को आजाद करवाने के लिए सबसे ज्यादा कुर्बीनी सिक्खों ने दी है. और सिक्खों की देशभक्ति पर किसी को शक नहीं करना चाहिए. बता दे कि शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी के अध्यक्ष किरपाल सिंह बडूंगर पटियाला में गुरुद्वारा दुख निवारण साहिब में एक धार्मिक समागम में पहुंचे थे.

एसजीपीसी मेंबर के बेटे परमिंदर सिंह से मारपीट के मामले में नया मोड़ आ गया है। अब मलोट पुलिस ने दूसरे पक्ष के बयान पर दयाल सिंह कोलियावाली और उनके बेटे परमिंदर सिंह कोलियांवाली लवजिंदर सिंह, हरदीप सिंह और प्रदीप सिंह पर धारा 307  के अलावा और अलग-अलग धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है। ये केस फरीदकोट के अस्पताल में इलाज करा रहे गुरमीत सिंह के बयान के आधार पर दर्ज किया गया है। वहीं, दयाल सिंह ने इस पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाए है। उनका कहना है कि पुलिस दबाव में काम कर रही है उनके बेटे

सब टीवी के पॉपुलर शो तारक मेहता का उल्टा चश्मा के फैंस के लिए बुरी खबर है. शो को विवाद के चलते बैन करने की मांग उठ रही है. सिख समुदाय दयाबेन और जेठालाल के शो के खिलाफ प्रदर्शन कर रहा है. उन्होनें शो पर धार्मिक भावनाओं को भड़काने का आरोप लगाया है. SGPC के चीफ कृपाल सिंह बाडूंगर ने अपने एक बयान में कहा, इस शो ने सिखों की धार्मिक भावनाओं को भड़काया है. सिख गुरू गोविंद सिंह के जीवित स्वरुप को इस तरह दिखाना उनका अपमान है. ऐसा करना सिख सिद्धांतों के खिलाफ है. कोई भी एक्टर अपने आप

श्री मुक्तसर साहिब/अमृतसर शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने श्री मुक्तसर साहिब स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब के मुख्य ग्रंथी ज्ञानी हरप्रीत सिंह को तख्त श्री दमदमा साहिब के कार्यकारी जत्थेदार के तौर पर सेवाएं सौंपी हैं. ज्ञानी हरप्रीत सिंह 16 साल से मुख्य ग्रंथी के तौर पर अपनी सेवाएं दे रहे थे. हरप्रीत सिंह को जत्थेदार की सेवाएं मिलने के बाद से श्री मुक्तसर साहिब की सिख संगत में खुशी की लहर है. उधर, श्री दमदमा साहिब में जत्थेदार की सेवा से मुक्त हुए ज्ञानी गुरमुख सिंह ने प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि जो फैसला लिया गया है उन्हें उसकी जानकारी नहीं है