सिरसा के नेशनल हाईवे 9 पर मौजूद एक पेट्रोल पंप पर चार नाकाबपोश बदमाशों ने लूट की वारदात को अंजाम दिया. बडागुढ़ा थाना क्षेत्र के पजूंवाना गांव के चार बदमाश 60 हजार की नकदी लूटकर फरार हो गए.वहीं लूट की पूरी वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई. बता दे कि बदमाश बिना नंबर की गाड़ी में सवार होकर आए थे. इस दौरान बदमाशों ने पेट्रोल पंप के कर्मचारियों पर भी हमला कर घायल कर दिया. घायल कर्मचारियों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वारदात की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज

साध्वियों से रेप मामले में 20 साल की सजा काट रहे डेरा प्रमुख राम रहीम का शाही परिवार 61 दिनों के बाद अपने डेरा परिसर में वापिस आ गया है। 25 अगस्त को राम रहीम के दोषी करार होने के बाद से ही परिवार ने डेरा छोड़ दिया था। हालांकि परिवार के सभी सदस्यों ने मीडिया से दूरी बनाई हुई है। सूत्रों के अनुसार राम रहीम के बेटे जसमीत इंसां ने डेरे की बागडोर संभालनी शुरू कर दी है। हनीप्रीत के जेल जाने के बाद राम रहीम का सारा परिवार सामने आया।उसके बाद जसमीत अपनी दादी नसीब कौर और परिवार के

पुलिस के हत्थे चढ़ने के बाद हनीप्रीत पर लगातार सिकंजा कसता जा रहा है. एक और पुलिस हनीप्रीत से डेरे के राज उगलवाने में जुटी है. वहीं, प्रवर्तन निदेशालय भी हनीप्रीत से पूछताछ कर सकता है. ईडी सिरसा डेरे में हवाला के जरिए पैसों के लेन-देन का ब्योरा जानने के लिए हनीप्रीत से पूछताछ कर सकता है. बता दें कि पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने डेरे के वित्तीय मामलों की जांच ईडी को सौंपी है. और इस वक्त हनीप्रीत पंचकूला पुलिस की हिरासत में है. सूत्रों के मुताबिक हरियाणा पुलिस ने पच्चीस अगस्त को पंचकूला और सिरसा में हुई हिंसा के चलते

डेरा सच्चा सौदा मामले में हरियाणा के डीजीपी बीएस संधु ने बड़ा खुलासा किया है..पंचकुला की सीबीआई अदालत से राम रहीम भगाने की कोशिश करने में पंजाब पुलिस के 8 जवान शामिल थे, उनमें से 3 को गिरफ्तार कर लिया गया है. गिरफ्तार पुलिस कर्मी में से एक रिमांड पर है और दो न्यायिक हिरासत में है..पांच को नोटिस जारी करके जवाब मांगा गया है.वहीं, उन्होंने बताया कि इस मामले में जांच का दायरा हरियाणा से बाहरी प्रदेशों तक जा सकता है.साथ ही डेरा के प्रबंधन के पैंतालीस सदस्यों को पुलिस जांच में शामिल करने की तैयारी में है.उन्होंने बताया

राम रहीम के डेरा हेडक्वार्टर में तीन दिन तक चला सर्च ऑपरेशन रविवार को पूरा हुआ. हरियाणा सरकार के डिप्टी डायरेक्टर सतीश मेहरा ने बताया कि अब कोर्ट कमिश्नर अपनी रिपोर्ट पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट को सौंपेंगे. सिरसा और उसके आसपास के इलाकों में आज से एसएमएस, इंटरनेट और रेल सर्विस बहाल कर दी जाएगी. लेकिन सिरसा डेरे के आसपास कर्फ्यू जारी रहेगा. हालांकि, सुबह-शाम एक एक घंटे के लिए कर्फ्यू में ढील दी जाएगी. फिलहाल डेरा में कहीं भी खुदाई नहीं की गई है। शनिवार को हुई सर्चिंग में राम रहीम के डेरे में एक सीक्रेट टनल मिली थी। इसका रास्ता राम

डेरे के समर्थक रहे भूपिंदर सिंह ने चंडीगढ़ में प्रेस कॉन्फ्रेंस की और बाबा राम रहीम पर कई आरोप लगाए। उन्होंने बताया कि डेरा सच्चा सौदा में करीब 15 हजार प्राइवेट सिक्योरिटी गार्ड हैं और उन सब के पास भारी मात्रा में हथियार हैं। साथ ही उन्होंने बताया कि बाबा की गोद ली हुई बेटी हनीप्रीत को एक साल पहले डेरा प्रभारी बनाए जाने से राम रहीम के परिवार में झगड़ा चल रहा था।

डेरा प्रमुख पर फैसले के बाद हरियाणा में हालात सामान्य हैं। सिरसा में आज 12 घंटे के लिए कर्फ्यू में ढील दी गई है, सिर्फ तीन इलाकों नाजिया खेड़ा, डेबू रोड और बाजेकां में कर्फ्यू जारी है। आज शहर में दफ्तर और शिक्षण संस्थान भी खुले हैं। सिरसा में सुरक्षा को लेकर सेना ने फ्लैग मार्च निकाला। सेना के अधिकारियों ने कहा कि शहर में हालात सामान्य बने हुए हैं, साथ ही उन्होंने कहा कि बिना प्रशासन की अनुमति के सेना डेरे के अंदर नहीं जाएगी।

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम पंचकूला के लिए रवाना हो गए हैं. 800 गाड़ियों के काफिले के साथ राम रहीम पंचकूला के लिए निकले हैं. आज पंचकूला सीबीआई कोर्ट फैसला सुनाएगी. हरियाणा के सिरसा में गुरुवार रात से हालात बिगड़ने की स्थिति को देखते हुए कर्फ्यू लगा दिया गया है. फैसले को लेकर पंचकूला में हजारों की संख्या में राम रहीम समर्थक मौजूद हैं. [embed]https://www.youtube.com/watch?v=iKBklvARMXw&feature=youtu.be[/embed]

सीबीआइ कोर्ट में डेरा मुखी की पेशी के संदर्भ में अफवाहों का दौर भी शुरू हो गया है। डेरा अनुयायियों की बढ़ती संख्या और प्रदेशभर के हालात देख पुलिस हर घंटे अपनी प्लानिंग बदल रही है। पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों में चर्चा है कि डेरा प्रमुख यदि सरकार के साथ तालमेल बैठाकर पंचकूला आते हैं तो प्रबल संभावना है कि उन्हें हेलीकॉप्टर के माध्यम से लेकर आया जाए। अभी औपचारिक फैसला नहीं हो पाया है। सिरसा से लेकर पंचकूला तक के सभी रास्तों पर हुजूम देखते हुए सरकार सतर्कता बरत रही है। सेक्टर-5 में जहां पर सीएम और केंद्रीय मंत्रियों के