चंडीगढ़ केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने मंगलवार दोपहर सेक्टर-31 थाने के अंदर यूटी पुलिस के एसआई को 2 लाख रिश्वत के साथ गिरफ्तार किया। आरोप है कि एसआई अटैम्टड टू मर्डर केस (धारा-307) में आरोपी पक्ष से परेशान न करने व तीन का नाम रफादफा करने के एवज 9 लाख की रिश्वत मांगी थी। जबकि, गिर तारी के बाद एसआई ने सीबीआई से कहा कि जनाब (थाना प्रभारी) को सारी जानकारी थी। जिसके बाद थाना प्रभारी जसविंदर कौर को तुरंत विभाग की ओर से लाइन हाजिर कर दिया गया। हालांकि, अभी सीबीआई के हाथ सुबूत नही लगा है। मामले में शिकायतकर्ता प्रापर्टी

गुरुग्राम में विजिलेंस विभाग की टीम ने एक सब-इंस्पेक्टर को रंगेहाथ रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार कर लिया। आरोपी सब इंस्पेक्टर बाअहीर गांव के सरपंच के पति से दो लाख रुपए की रिश्वत ले रहा था। बताया जा रहा है, कि सरपंच सविता पर कुछ लोगों ने आरोप लगाये थे कि जिस मार्कशीट के आधार पर वो सरपंच के चुनाव लड़ी थी, वो मार्कशीट फर्जी है। इसके बाद इसकी जांच की गई तो 8वीं क्लास की मार्कशीट सही पाई गई, लेकिन इसके बाद भी सोहना एसीपी ने उन्हें जांच के लिए बुलाया और उसके बाद सब इंस्पेक्टर ने उन्हे गलत रिपोर्ट में