भारत के युवाओं की बहतरी के लिए सरकार ने एक सरहनीय कदम उठाया है. सरकार के स्किल डिवेलपमेंट प्रोग्राम के तहत देश से 3 लाख युवाओं को जापान में 3 से 5 साल तक के लिए ऑन-जॉब ट्रेनिंग के लिए भेजे जाएगा. भारतीय टेक्निकल इंटर्न्स की इस स्किल ट्रेनिंग पर आने वाला खर्च जापान करेगा. प्रधान ने बुधवार को बताया कि केंद्रीय कैबिनेट ने भारत और जापान के बीच टेक्निकल इंटर्न ट्रेनिंग प्रोग्राम (TITP) को लेकर होने वाले मेमोरैंडम ऑफ कोऑपरेशन (MoC) को मंजूरी दे दी है. प्रधान की तोक्यो की 3 दिवसीय यात्रा 16 अक्टूबर से शुरू होगी. The MoC will

सरकार की नई पहल के बाद अब सरकारी स्कूलों में नौवीं और दसवीं कक्षा में पढ़ने वाले विद्यार्थियों को नियमित पढ़ाई के साथ-साथ अब प्रतियोगी परीक्षाओं जेईई और नीट की ट्रेनिंग भी दी जाएगी. आपको बता दें कि  राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के तहत नवीं और दसवीं के बच्चों को प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयार करने के लिए नई पहल की गई है. इसके तहत सरकार के स्वयंसिद्धम पोर्टल पर प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए स्टडी मैटीरियल और क्वेश्चन बैंक दिया जाएगा. स्टूडेंट्स ऑनलाइन भी शिक्षकों से सवाल-जवाब कर सकेंगे. नौवीं और दसवीं कक्षा के दौरान ही विद्यार्थियों को जमा दो कक्षा