भारत में जल्द उड़ान भरेगा वियतनाम की बिकनी एयरलाइन

0
416
views

नर्इ दिल्ली

एक वियतनामी किफायती एयरलाइन जल्द ही भारत में उड़ान भर सकता है. ये वियतनामी एयरलाइन “बिकनी एयरलाइन” के नाम से मशहूर है. इस विमान कंपनी का नाम वियतजेट है. ये किफायती एयरलाइन वियतनाम की राजधानी हो ची मिन्ह शहर से नर्इ दिल्ली के लिए प्रति हफ्ते  चार बार उड़ान भरेगी। उम्मीद है कि इन उड़ानों का परिचालन जुलार्इ-अगस्त से शुरु कर दिया जाएगा। वियतजेट ने भारत-वियतनाम राजनयिक संबंधों की 45 वीं वर्षगांठ के अवसर पर वियतनाम-भारत व्यापार फोरम में दोनों देशाें को जोड़ने की योजना की घोषणा. ये मौका भारत आैर वियतनाम यानि दाेनों एशियाई देशों के बीच सामरिक भागीदारी की 10वीं वर्षगांठ का भी था.

 जानें क्यों कहते है बिकनी एयरलाइंस

इस किफायती विमान कंपनी ने साल 2012 में एक वार्षिक कैलेंडर प्रकाशित किया था जिसमें उड़ान परिचालक, पायलट आैर ग्राउंड स्टाॅफ के रुप में बिकनी पहने माॅडल शामिल थे. इसके बाद से इस वियातनामी एयरलाइन्स को बिकनी एयरलाइन्स भी कहा जाता है, हालांकि इसके बाद से इस एयरलाइन को लेकर काफी विवाद भी हुआ लेकिन इसके बाद पूरे विश्व में इस विमान कंपनी को जाना जाने लगा.

उड़ान के दौरान हो चुका है फैशन शो का आयोजन

इस किफायती विमान कंपनी ने उड़ान फैशन शो का भी आयोजन किया था जिसमें स्विमिंग सूट पहने हुए मॉडल और सौंदर्य प्रतियोगी प्रतियोगियों ने शिरकत की थी. अपनी इन्ही सब आयोजनों के चलते वियतजेट को काफी कम समय में लोकप्रियता मिल गर्इ. इस विमान कंपनी के लाॅन्च के बाद इसकी संस्थापक आैर मुख्या कार्यकारी अध्यक्ष गुयेन थी फूंग थाओ वियतनाम की पहल महिला करोड़पति बन गर्इ.

लग चुका है जुर्माना

इस बीच, बजट एयरलाइन को उड़ान के दौरान खतरे को नजरअंदाज करने के लिए जुर्माना लगाया भी गया था. वियतजेट के संस्थापक और सीईओ गुयेन थी फूंग थाओ ने बाद में अपने कैलेंडर का बचाव किया और फैशन शो काे लेकर दावा है कि वे “वियतनाम के रूढ़िवादी संस्कृति में छवियों को सशक्त बनाना” हैं

मिल चुका है लो काॅस्ट कैरियर का खिताब

वर्तमान में, वियतनामी बजट एयरलाइंस वियतनाम के साथ-साथ थाईलैंड, सिंगापुर, मलेशिया, दक्षिण कोरिया, म्यांमार, कंबोडिया, हांगकांग और ताइवान के बीच स्थलों का कार्य करती है. एयरलाइन का ए 320 और ए 321 का बेड़ा है एयरलाइन को एशिया 2016 में शीर्ष 500 ब्रांडों में से एक और टीटीजी ट्रैवल अवार्ड्स 2015 में “सर्वश्रेष्ठ एशियाई कम लागत वाली वाहक” के रूप में नामित किया गया था.